• पुतिन ने कहा : यह है एक आक्रामक कार्रवाई 
  • अमेरिका-फ्रांस-ब्रिटेन का सीरिया पर हमला
  • 100 मिसाइलों से दहला दमिश्क

नयी दिल्ली : अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के हवाई हमलों की घोषणा करने के बाद सीरिया की राजधानी आज सुबह तेज विस्फोटों से दहल उठी और आसमान में घना धुआं छा गया। ट्रंप ने हमले का आदेश सीरिया में हुए कथित रासायनिक हमलों में करीब 40 लोगों की मौत के बाद दी थी। सीरिया की वायु रक्षा सेवा ने अमेरिका, फ्रांस और ब्रिटेन के इन संयुक्त हमलों का जवाब भी दिया। पूर्वी दमिश्क से धुआं निकलता देखा और जहां आसमान में धुएं का गुबार छा गया। 

सीरियाई सरकारी टेलीविजन ने दिखाया कि वैज्ञानिक अनुसंधान केंद्र पर हमला हुआ और सीरिया के वायु रक्षा ने दक्षिणी दमिश्क की ओर आ रहे 13 रॉकेटों को हवा में ही नाकाम कर दिया। हमले के बाद सीरिया के राष्ट्रपति ने ट्वीट किया , ” अच्छे लोगों को अपमानित नहीं किया जाएगा। सीरियाई सरकारी टीवी ने कहा कि हमले ” अंतरराष्ट्रीय कानून का स्पष्ट उल्लंघन हैं और यह अंतरराष्ट्रीय वैधता की अवमानना दर्शाता है।

वहीँ सीरिया में अमेरिका के नेतृत्व में बरसाए गए मिसाइल से रूस बौखला गया है। रूस के राष्ट्रपति ब्लादिमीर पुतिन ने सीरिया में अमेरिका और उसके सहयोगियों की तरफ से किए गए हमले की आलोचना करते हुए इसे एक आक्रामक कार्रवाई करार दिया और कहा कि इससे सीरिया में मानवीय विपत्ति और बढ़ेगी।
  
वहीँ क्रेमलिन की तरफ से जारी एक बयान में रूसी नेता ने कहा कि सीरिया में अमेरिका, ब्रिटेन और फ्रांस की तरफ से किए गए हमले को लेकर मॉस्को संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद की आपात बैठक बुला रहा है। 

पुतिन ने आगे कहा कि इस हमले का पूरे अंतर्राष्ट्रीय संबंधों पर बेहद खतरनाक असर पड़ेगा। उन्होंने रूस के कथन की जोरदार तरीके से पुष्टि करते हुए कहा कि सीरिया के डुमा टाउन में रासायनिक हमले की खबर पूरी तरह से बेबुनियाद है। पुतिन ने आगे कहा कि रूस के सैन्य विशेषज्ञ जिन्होंने डुमा का दौरा किया, उन्हें ऐसी कोई चीज वहां से बरामद नहीं हुई है।

इंटरनेशन कैमिकल वीपन्स वाचडॉग की ओर से इलाके का दौरा किए बिना ही अमेरिका और उसके सहयोगियों की तरफ से किए गए हमले की पुतिन ने आलोचना की।

ट्रंप ने दिया सीरिया के रासायनिक ठिकानों पर सैन्य हमले का आदेश
अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने कहा कि उन्होंने 7 अप्रैल को सीरिया में संदिग्ध जहरीली गैस के रासायनिक हमलों में मारे गये 60 लोगों की मौत का बदला लेने के लिए सीरिया पर हमले का आदेश दिया है। 

ट्रंप ने व्हाइट हाऊस से टीवी संबोधन में कहा, ‘कुछ देर पहले मैंने अमेरिका की सेनाओं को सीरिया के तानाशाह बशर अल-असद के रसायनिक हथियारों के ठिकानों पर हमले करने का आदेश दिया है।’ 

ब्रिटेन की सेनाओं को सीरिया पर हमले का आदेश: थेरेसा
ब्रिटेन की प्रधानमंत्री थेरेसा मे ने आज कहा कि उन्होंने ब्रिटेन की सेनाओं को सीरिया के रासासनिक हथियारों के ठिकानों को नष्ट करने के लिए हमले करने का आदेश दिया है।

मे ने अपने बयान में कहा, ‘यह गृह युद्ध में हस्तक्षेप नहीं है। यह शासन में परिवर्तन के लिए भी नहीं है।’
उन्होंने कहा, ‘इन लक्षित और सीमित हमलों से क्षेत्र में तनाव नहीं बढ़ेगा और आम नागरिकों को हमलों से बचाने का हर संभव प्रयास किया जाएगा।’  ब्रिटेन अमेरिका और फ्रांस के साथ मिलकर सीरिया पर इन लक्षित हमलों को अंजाम देगा।



https://ift.tt/2viRIfM


See More

 
Top