देहरादून- इंटरनेट की दुनिया ने लोगों का काम बेहद आसाम कर दिया है. और तो और अब पूजा करने के लिए भी इंटरनेट भक्तों की मदद करेगा. जी हैं बदरी-केदार मंदिर समिति ने श्रद्धालुओं के लिए इस साल से ऑनलाइन पूजा का विकल्प खोल दिया है। यही नहीं, भक्तगण अब देश-दुनिया में कहीं से भी पेटीएम के जरिये इन धामों के लिए दान और चढ़ावा भेज सकेंगे।

अभिषेक और महाभिषेक पूजाएं

बदरीनाथ और केदारनाथ धाम में अभिषेक और महाभिषेक पूजाओं का अपना महात्म्य है। अब इन्हें घर बैठे ऑनलाइन भी संपन्न कराया जा सकेगा। हर साल लाखों की संख्या में श्रद्धालु इन दोनों धामों में दर्शनों के लिए आते हैं।

मंदिर ये दोनों पूजाएं सामान्य दिनों में रोजाना सुबह चार बजे से साढ़े छह बजे तक होती हैं। दोपहर और शाम को अन्य पूजा, आरती होती हैं। केदारनाथ धाम में श्रद्धालुओं की संख्या बढऩे पर कई बार ये पूजाएं सुबह ढाई बजे से शुरू कर दी जाती हैं। बदरीनाथ धाम में एक बार में 35 श्रद्धालु तक विशेष पूजा में बैठते हैं, जबकि केदारनाथ में एक बार में एक ही परिवार के सदस्यों के लिए यह पूजा संपन्न कराई जाती है। अब भक्तगण मंदिर पहुंचे बिना भी परिवार सहित ऑनलाइन पूजा संपन्न करा सकेंगे।

डाक से घर पहुंचेगा प्रसाद

ऑनलाइन पूजा का विकल्प चुनने वाले श्रद्धालुओं के हिस्से की विशेष पूजा मंदिर समिति कराएगी। वेदपाठी या धर्माधिकारी भक्त के नाम, गोत्र को पुकारकर ठीक वैसी ही पूजाएं करेंगे, जैसे स्वयं श्रद्धालु के मौजूद रहने पर की जाती है।

डब्ल्यूडब्ल्यूडब्ल्यू.बदरीकेदार.ओआरजी पर की जाएगी पूजाओं की बुकिंग

इसके बाद पूजा प्रसाद डाक के जरिये उनके घर तक पहुंचाया जाएगा। मंदिर समिति की वेबसाइट डब्ल्यूडब्ल्यूडब्ल्यू.बदरीकेदार.ओआरजी पर इन पूजाओं की बुकिंग की जाएगी।

पेटीएम से भी दान

श्री बदरीनाथ-केदारनाथ मंदिर समिति के सीईओ बीडी सिंह ने बताया कि अब तक यात्री पूजा, दान व चढ़ावे का भुगतान पर्ची कटाकर मंदिर समिति को करते थे। लेकिन, यात्रियों की संख्या हजारों में होने के कारण भुगतान के लिए उन्हें लंबी लाइन लगानी पड़ती थी। यात्रा के चरम काल में तो कई यात्री बिना दान किए ही भगवान के दर्शन कर वापस लौट जाते थे। इसके मद्देनजर मंदिर समिति ने इस साल से पेटीएम से दान देने की सुविधा भी दे दी है।

श्रद्धालुओं को मिलेगी मुफ्त चाय

भगवान बदरी विशाल के दर्शनों के लिए लाइन में लगने वाले यात्रियों की सुविधा को ध्यान में रख मंदिर समिति ने इस बार उनके लिए मुफ्त चाय की व्यवस्था की है। श्रद्धालुओं के लिए मंदिर समिति भंडारा भी लगाएगी।

बदरीनाथ धाम में विशेष पूजाओं की दरें

महाभिषेक पूजा- 4300 रुपये प्रति व्यक्ति, अभिषेक पूजा- 4101 रुपये प्रति व्यक्ति, वेद पाठ- 2100 रुपये प्रति व्यक्ति, गीता पाठ- 2500 रुपये प्रति व्यक्ति, स्वर्ण आरती- 376 रुपये, विष्णु सहस्रनाम पाठ- 456 रुपये, कपूर आरती- 151 रुपये, शयन आरती- 3100 रुपये

केदारनाथ धाम में विशेष पूजाओं की दरें

महाभिषेक- 1700 रुपये प्रति व्यक्ति, रुद्राभिषेक- 1300 रुपये, लघु रुद्राभिषेक- 1100 रुपये, बालभोग- 900 रुपये, शिव सहस्रनाम पाठ- 360 रुपये, शिव महिमास्त्रोत पाठ- 360 रुपये, शिव तांडवास्त्रोत पाठ- 340 रुपये, षोडशोपचार- 1000 रुपये, संपूर्ण आरती- 1500 रुपये

ऐसे कराई जाती है पूजा

बदरीनाथ धाम के धर्माधिकारी भुवन चंद्र उनियाल के मुताबिक धर्माधिकारी द्वारा भगवान की मूर्ति के समक्ष संबंधित व्यक्ति का नाम, निवास का नाम, गोत्र का नाम व अन्य पारिवारिक सदस्यों के नाम का संकल्प लेकर पूजाएं संपन्न कराई जाती हैं। आपदा के दौरान दो लाख से अधिक पूजाएं फोन पर कराई गई थीं।



https://ift.tt/2GR9N9O



See More

 
Top