• दल में शामिल बाकी ट्रेकर सुरक्षित

उत्तरकाशी : चाईंशील  ट्रेक पर बुधवार को महाराष्ट्र के 24 वर्षीय पर्यटक की ठण्ड लगने से मौत को खबर है। बीते दिन घने कोहरे के चलते यह पर्यटक दल  चाईंशील ट्रैक पर रास्ता भूल गया था। ट्रेकर की मौत की सूचना मिलने के बाद बुधवार को एसडीआरएफ, पुलिस और वन विभाग की टीम शव को लेने घटना स्थल पर पहुंच गई है। दल में शामिल बाकी ट्रेकर सुरक्षित बताए गए हैं।

गौरतलब हो कि सात अप्रैल को दिल्ली यूथ हॉस्टल एसोसिएशन ऑफ इंडिया नाम की ट्रेकिंग संस्था शासन से अनुमति चाईंशील ट्रेक पर निकले थे। इनमें गुडगांव, महाराष्ट्र, दिल्ली से करीब 16 पर्यटक शामिल थे। ये सभी वलावट से चाईंशील ट्रेक पर निकले थे। चाईंशील से लौटते वक्त दल के सदस्य ट्रेक के तीसरे पड़ाव टामटा थाट में घने कोहरे और वर्षा के चलते ये रास्ता भटक गए थे । दल के इन सभी सदस्यों को कसमोल्टी बेस कैंप आना था, लेकिन बीच रास्ते में घना कोहरा, बारिश और बर्फबारी के कारण दल का एक सदस्य महाराष्ट्र निवासी सुमित (25 वर्ष) और गाइड परमानंद दल के अन्य सदस्यों से बिछुड़ गए।

जबकि अन्य सदस्य बेस कैंप पहुंच गए थे। जब पर्यटक की हालत बिगड़ने लगी तो पोर्टर ने उसे बैस कैंप पहुंचाने की कोशिश की, लेकिन जब वह आगे नहीं बढ़ सका तो पोर्टर ने ट्रेकर को वहीं छोड़कर बेस कैंप जाकर अन्य सदस्यों को इसकी जानकारी दी। सभी ने पोर्टर को सुरक्षित बेस कैंप पहुंचाया, जहां देर रात को ठंड के कारण उसकी मौत हो गई। एसडीएम पुरोला पूरण सिंह राणा ने बताया कि पर्यटक की मौत की सूचना मिलने के बाद एसडीआरएफ, वन विभाग, पुलिस की टीम शव को लेने के लिए घटना स्थल के लिए पहुंच गई है। 



https://ift.tt/2v5uBFk


0 comments:

Post a Comment

See More

 
Top