देहरादून । बीते दिनों कांग्रेस ने केन्द्र सरकार के खिलाफ उपवास रखा था लेकिन आज विपक्ष के संसद न चलने देने के विरोध में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के समर्थन में देश  भर में भाजपाईयों ने भी एक दिवसीय उपवास रखा और यहां दून में कई स्थानों पर भाजपाई उपवास पर बैठे और कांग्रेस सहित अन्य विपक्षी दलों के खिलाफ प्रदर्शन किया।
यहां गांधी पार्क में टिहरी सांसद माला राज्य लक्ष्मी शाह के नेतृत्व में कार्यकर्ता इकटठा हुए और वहां पर उन्होंने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के समर्थन में उपवास पर रहे। इस अवसर पर मालाराज्य लक्ष्मी शाह ने कहा कि कांग्रेस की विभाजनकारी राजनीति के खिलाफ भारतीय जनता पार्टी का उपवास और धरना दिया जा रहा है और निरंतर सत्ता में रहने की आदी कांग्रेस द्वारा सुनियोजित तरीके से पूरे देश में भय और भ्रम का वातावरण तैयार किया जा रहा है। वक्ताओं का कहना है कि हिंसा और उकसावे की राजनीति द्वारा देश का अमन-चैन बिगाड़ने की कोशिशें जारी हैं। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के पॉलिटिक्स ऑफ परफॉरमेंस का विरोध करने के लिए सारे हथकंडे अपनाने के बावजूद विफल हो चुका विपक्ष अब विकास के विरोध में संसद में अवरोध उत्पन्न करने की साजिश पर उतर आया है। 
 
संसद का पिछ्ला सत्र कांग्रेस एंड कंपनी के हंगामें की भेंट चढ़ गया. जनता के हित के कई सारे महत्वपूर्ण विधेयक कांग्रेस के हंगामे के कारण पास नहीं हो सका. यह कोई पहली बार नहीं है जब कांग्रेस ने संसद को ठप्प करने की साजिश की है, इससे पहले भी जब-जब कांग्रेस को अपना चेहरा बेनकाब होने का डर सताता है तो वह संसद की कार्यवाही को बाधित कर देती है। महानगर अध्यक्ष विनय गोयल का कहना है कि कांग्रेस के इसी अलोकतांत्रिक एवं विकास विरोधी चेहरे को बेनकाब करने का काम किया जायेगा। कांग्रेस के चाल, चरित्र और चेहरे को जनता के सामने उजागर करेंगे। कांग्रेस की देश के लोकतंत्र में कभी आस्था रही ही नहीं. देश पर आपातकाल थोपने वाली, मीडिया पर बंदिशें लगाने वाली, सिखों का नरसंहार कराने वाली, वोट के लिए धर्म और जाति में दंगे कराने वाली कांग्रेस लोकतांत्रिक मर्यादाओं को तार-तार करने वाली पार्टी है. 2019 के चुनाव के लिए यह कांग्रेस की सोची-समझी साजिश है। सिखों के नरसंहार के आरोपी खुलेआम राहुल गांधी के मंच पर देखे जाते हैं. कर्नाटक में हिंदूओं के बीच बंटवारे की राजनीति तो पूरा देश देख रहा है. कांग्रेस ने ही गुजरात में क्षत्रिय, हरिजन, अहीर, मुस्लिम का गठजोड़ बनाया था जिसके कारण वर्षों तक गुजरात में दंगे होते रहे, समाज में विद्वेष और नफरत फैलता रहा और कांग्रेस पार्टी राजनीतिक रोटियाँ सेंकती रही और हार्दिक पटेल से भी समर्थन लेने में कोई परहेज नहीं करती है। जबकि आज कांग्रेस फिर जाति, धर्म और भाषा के आधार पर देश को टुकड़े-टुकड़े करने की साजिश में लगी है। यहाॅं कई वक्ताओं ने संबोधित किया। इस अवसर पर पार्टी के अनेक पदाधिकारी व कार्यकर्ता मौजूद थे।



https://ift.tt/2HjD78m


See More

 
Top