हरिद्वार- चाहे जो सरकार आए-जाए और कोई कितने ही जीरो टोलरेंस के दावे करें लेकिन सरकारी तंत्र के आगे सब नतमस्तक नजर आते हैं। हाल ही में हरिद्वार में एक मामला देखने को मिला जब एक परिवार को मजबूरन अपने हक के लिए ​हरिद्वार तहसील में धरने पर बैठना पड़ा। जिसमें पीड़ित के पिता का फर्जी मृत्यु प्रमाण पत्र बनाकर जमीन किसी और के नाम कर दी गयी।
मामला हरिद्वार के ग्राम अनेकी हेत्तमपुर का है जहां के राजेश के पिता जिसकी मृत्यु 2008 में हुई जिसके बाद जब वह अपने जमीन के कागजों पर अपने पिता की जगह अपना नाम लिखवाने पहुंचा तो उसे मालूम चला की, पूर्व के तहसीलदार और पटवारी ने ​उसके ताउ के लड़कों के साथ मिलकर राजेश के पिता सोम उर्फ पीताम्बर का 1997 का फर्जी मृत्यु प्रमाण पत्र बना कर साजिशन उसकी तीन बीघा जमीन ताउ के लड़कों के नाम कर दी। जिबकी उस समय राजेश के पिता जीवित थे। साजिश का पता चलने पर राजेश ने हर अधिकारी के दर गुहार लगायी परन्तु केवल आश्वासन के अलावा कुछ हासिल नहीं हुआ। राजेश ने अदालतो के चक्कर भी कांटे परन्तु आदेश् उसके पक्ष में आने के बाद भी अभी तक कुछ हल नहीं निकला है अब हार कर राजेश अपने पूरे परिवार के साथ हरिद्वार तहसील परिसर में धरने पर बैठने को मजबूर होना पड़ा और उसका कहना है कि जब तक उसे न्याय नहीं मिलता वह अपने परिवार के साथ यही बैठा रहेंगा।


https://ift.tt/2HEpePT


See More

 
Top