देहरादून: पिछले कई दिनों से एक के बाद एक चेन स्नेचिंग की वारदात को अंजाम देकर दून पुलिस की नाक में दम करने वाला चेन स्नेचर आखिर में पुलिस के हत्थे चढ़ ही गया। आरोपित स्टंट बाइकर है और दिल्ली में 17 वारदात को अंजाम दे चुका है। यही नहीं उसके खिलाफ 35 मुकदमे भी दर्ज हैं।

कोटद्वार के करन शिवपुरी ने वर्ष 2009 में दिल्ली में चोरी की पहली वारदात

महज 13 साल की उम्र में अपराध की दुनिया में कदम रखने वाले कोटद्वार के करन शिवपुरी ने वर्ष 2009 में दिल्ली में चोरी की पहली वारदात की। इसके बाद वह दून, नजीबाबाद और दिल्ली में लगातार सक्रिय रहा। दून में वह ऋषिकेश से बाइक किराये पर लाकर चेन स्नेचिंग कर फरार हो जाता था। पुलिस की पूछताछ में आरोपित ने रायपुर, नेहरू कॉलोनी और वसंत विहार थाना क्षेत्र में चेन स्नेचिंग की घटनाओं में अपना हाथ होने की बात कबूली है।

एसएसपी निवेदिता कुकरेती ने बताया कि एक के बाद एक हो रही चेन स्नेचिंग की घटनाओं के बाद पुलिस और एसओजी की संयुक्त टीम गठित की गई। जिसके बाद घटनास्थल के आसपास के सीसीटीवी फुटेज खंगाले गए। फुटेज में एक व्यक्ति की पहचान उजागर हुई, जिसके दाहिने हाथ पर बने टैटू पर डॉन लिखा हुआ था। इसके बाद उसकी तलाश शुरू की गई। मंगलवार को रायपुर और नेहरू कॉलोनी पुलिस की टीम छह नंबर पुलिया पर चेकिंग कर रही थी। इसी दौरान एक संदिग्ध बाइक सवार को पकड़ा गया। पूछताछ में उसने अपना नाम करन शिवपुरी पुत्र स्व. राकेश शिवपुरी निवासी मानपुर कलालघाटी, कोटद्वार बताया।

उसने नौ अप्रैल को रिंग रोड, 25 अप्रैल को रायपुर के रांझावाला और 15 अप्रैल को वसंत विहार में सीमाद्वार के पास चेन स्नेचिंग की वारदात को अंजाम देने की बात कबूली। एसएसपी ने बताया कि आरोपित डोईवाला में किराये के मकान में रहा था। ऋषिकेश से बाइक किराये पर लाकर दून में चेन स्नेचिंग कर फरार हो जाता था। दिल्ली का है हिस्ट्रीशीटर आरोपित करन ने पूछताछ में पुलिस को बताया कि वर्ष 2006 में उसके पिता की कैंसर से मौत हो गई थी।

2009 में उसने पहली बार दिल्ली में सिलेंडर चोरी किया

घर चलाने के लिए उसने प्राइवेट नौकरी शुरू की। मगर वह गलत संगत में पड़ गया। वर्ष 2009 में उसने पहली बार दिल्ली में सिलेंडर चोरी किया। नाबालिग होने के कारण वह छूट गया था। वर्ष 2010 से उसने दोस्त अंकित ठाकुर के साथ मिलकर दिल्ली में कई चेन स्नेचिंग कीं। 2016 में दोनों ने कोटद्वार से एक कार बुक कराई और नजीबाबाद में उसे लूट लिया। 2017 में सहसपुर और विकासनगर में चेन स्न्नेचिंग की थी, जिसमें भी वह जेल गया था। इसके बाद वह दिल्ली चला गया और वहां फिर से चेन स्नेचिंग शुरू कर दी। दिल्ली पुलिस के पीछे पड़ने के कारण वह ऋषिकेश आ गया।

दिल्ली में एक घंटे उड़ाई 17 चेनें

करन स्टंट बाइकर है। पुलिस की मानें तो पूछताछ में उसने बताया कि वर्ष 2013-14 में उसने दिल्ली में एक घंटे में ही 17 चेन स्नेचिंग की घटनाओं को अंजाम दिया था। इसके बाद भी दिल्ली पुलिस उसे पकड़ नहीं पाई थी। बाद में दिल्ली पुलिस ने उसे पकड़ने के लिए मुंबई से स्टंट बाइकर्स मंगाए थे। तब जाकर वह पकड़ में आया। बताया कि वह 100 की स्पीड से बाइक को मोड़ सकता है।

एमटीवी के स्टंट बाइकिंग में हो गया था चयन

आरोपित किरन शिवपुरी की मानें तो उसे बचपन से ही बाइक चलाने का शौक था। वह स्टंट करने का शौकीन था। एक बार उसका चयन एमटीवी चैनल के स्टंट बाइकिंग कार्यक्रम के लिए हो गया था, लेकिन उम्र 18 वर्ष में दो माह कम होने के कारण उसे बाहर कर दिया गया। इसके बाद ही उसकी मुलाकात स्कूल के साथी अंकित ठाकुर से हुई थी। उसी ने उसे चेन स्नेचिंग की सलाह दी थी।

एक ही चेन बरामद कर पाई पुलिस

आरोपित ने दून में चार वारदात में अपना हाथ कबूला, मगर पुलिस उससे सिर्फ एक ही चेन बरामद कर पाई है। पुलिस के मुताबिक, उसने किसी ज्वेलर को चेनें बेची हैं। जिनकी बरामदगी कराई जा रही है। आरोपित से घटना में प्रयुक्त तीन मोटरसाइकिल भी बरामद की गई हैं।



https://ift.tt/2K9qgmV


See More

 
Top