हर किसी का सपना होता है एश औऱ आराम की जिंदगी जीना लेकिन उसके लिए मेहनत करनी पड़ती है. लेकिन कभी-कभी तुक्के से भी आप लखपति-करोड़पति बन सकते है. जी हां कई सालों से अबू धाबी अंतरराष्‍ट्रीय हवाईअड्डे पर बिग टिकट मिलेनियर प्रतियोगिता होती है। खास बात ये है कि इस प्रतियोगिता में बीते कुछ समय से कई भारतीयों को जीत हासिल हो रही है। एक बार फिर यही हुआ है और भारतीय मूल के लोगों ने इस लॉटरी प्रतियोगिता में कब्‍जा जमाया है। ना सिर्फ जैकपॉट जीतने वाला शख्‍स भारतीय है बल्‍कि 8 में से 6 अन्‍य विजेता भी भारतीय ही हैं। जैकपॉट जीतने वाले हैं कुवैत में नौकरी कर रहे अनिल वर्गीज थेवरील जो देखते ही देखते करोड़पति बन बैठे हैं।

बेटा बना लकी चार्म

50 साल के थेवरील कुवैत में एग्जीक्यूटिव असिस्टेंट के तौर पर काम करते हैं, उन्‍होंने जैकपॉट इनाम जीता है। मजेदार बात ये है कि उनके टिकट का नंबर उनके बेटे के जन्म दिन से मिलता है। वे कुवैत में करीब 20 सालों से काम कर रहे हैं। अपनी जीत के बारे में बात करते हुए उन्होंने कहा कि बेटा उनके लिये लकी चार्म साबित हुआ है। जब उन्‍होंने ऑनलाइन लॉटरी टिकट खरीदा तो उसका नंबर 11197 चुना, क्योंकि ये उनके बेटे की डेट ऑफ बर्थ है यानि 11/97। अनिल ने ये भी बताया कि वे बिग टिकट के साथ दो बार से प्रयास कर रहा थे और उन्‍होंने सोचा भी नहीं था कि वे जैकपॉट जीत जायेंगे।

पैसे का अधिकांश हिस्‍सा बेटे की पढ़ाई पर खर्च करेंगे

बहरहाल वे भले ही कुवैत में काम करते हैं, मगर उनका बेटा भारत में रह कर केरल से ग्रेजुएशन कर रहा है। पता चला है पिछले दिनों कुछ आर्थिक संकटों से गुजरे अनिल अब इस जीत से काफी खुश हैं और भले ही पूरी तरह फैसला नहीं कर पाये हैं कि वे इतने धन का क्‍या करेंगे पर उन्‍होंने सोचा है कि वे जीत के पैसे का अधिकांश हिस्‍सा बेटे की पढ़ाई पर खर्च करने के साथ कुछ धन परोपकार के कामों में भी लगायेंगे।

जैकपॉट जीतने वाले अनिल वर्गीज के साथ 8 लोगों ने भी लॉटरी जीती है। खास बात ये है कि इनमें से अनिल सहित 6 लोग भारतीय ही हैं। इन सात विजेताओं की घोषणा मंगलवार को हो गई थी। जीतने वाले प्रत्येक व्‍यक्‍ति को 100,000 दिरहम दिए गये। इनमें से एक बांग्लादेश का और एक मोरक्को का था, इसके अलावा सभी भारतीय लोग ही जीते थे।



https://ift.tt/2waKHhj


See More

 
Top