देहरादून- मुख्यमंत्री ने नौजवानों का आह्वान किया कि वे स्वरोजगार की दिशा में कदम बढ़ायें। हमने दो ऐसे निर्णय लिए हैं जिससे युवा अपना जीवन संवार सकते हैं। नौजवान स्वरोजगार की ओर बढ़ें। इससे पलायन को रोकने में भी मदद मिलेगी। ये बात सीएम ने गुरुवार को रामताल गार्डन, चकराता में आयोजित शहीद वीर केसरी चन्द मेले में कही.

पिरूल के माध्यम से ऊर्जा का उत्पादन करने में बहुत कम आएगा खर्च

सरकार द्वारा पिरूल नीति लागू की गई है। पिरूल के माध्यम से ऊर्जा का उत्पादन करने में बहुत ही कम खर्च आएगा। यदि स्थानीय लोग इसे अपने रोजगार के रूप में अपनाते हैं तो एक बीघा जमीन पर 50 मेगा वाट बिजली उत्पादित की जा सकती है। उन्होंने कहा कि ग्रामीण महिलाओं को एलईडी उपकरणों को बनाने का प्रशिक्षण दिया जा रहा है। अभी 110 महिलाओं को प्रशिक्षण दिया गया है। प्रदेश में बहन बेटियों को आत्मनिर्भर बनाने के लिए सरकार द्वारा लगातार प्रयास किए जा रहे हैं।

राज्य सरकार भ्रष्टाचार को समाप्त करने के लिए प्रतिबद्ध है

मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य सरकार भ्रष्टाचार को समाप्त करने के लिए प्रतिबद्ध है। इस दिशा में कार्यवाही करते हुए अब तक 30 से ज्यादा लोगों को जेल भेजा गया है। मुख्यमंत्री डैशबोर्ड के जरिए सभी विभागों की निगरानी की जा रही है। राज्य सरकार भ्रष्टाचार को समाप्त करने के लिए कठोर कदम उठा रही है, परंतु इसमें जन सहयोग की भी जरूरत है। मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य के विद्यालयों में एनसीईआरटी की पुस्तकें लागू की गई हैं। राज्य सरकार ने ई टेंडरिंग व्यवस्था लागू की है। पिछले 1 साल में ऊर्जा विभाग का राजस्व बढ़ा है।

इस अवसर पर विधायक मुन्ना सिंह चैहान ने कहा कि देश को स्वतंत्रता दिलाने में उत्तराखंड के वीर सपूतों ने भी महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है। वीर शहीद केसरी चंद और शहीद दुर्गामल्ल ने आजादी के लिए अपनी जान न्योछावर कर दी।

प्रदेश सरकार उत्तराखंड के विकास के लिए लगातार प्रयासरत है उन्होंने युवाओं का आह्वान करते हुए कहा कि वह राज्य के विकास में भागीदार बनें। राज्य सरकार द्वारा चलाई जा रही योजनाओं का लाभ उठाते हुए राज्य के विकास में सहभागी बने।

इस अवसर पर पूर्व अध्यक्ष जिला पंचायत मधु चैहान, लोक कलाकार नन्दलाल भारती सहित बडी संख्या में क्षेत्रीय जनता आदि उपस्थित थे।



https://ift.tt/2JROEJS


See More

 
Top