देहरादून : थराली विधानसभा सीट का उपचुनाव और अधिक रोचक हो गया है. भाजपा ने जहां स्व. मगन लाल शाह की पत्नी को थराली सीट से उम्मीदवार घोषित किया. तो वहीं भाजपा में शामिल हुए गुड्डूलाल को टिकट न मिलने के कारण उन्होंने बगावती तेवर दिखाए. और साथ ही निर्दलीय चुनाव लड़ने की ठानी. चमोली जिले की थराली विधानसभा सीट पर उपचुनाव को लेकर भाजपा-कांग्रेस काफी उत्साहित है।

गुड्डूलाल के भाजपा से अलग होने के बाद मानों कांग्रेस फूले नहीं समा रही. विपक्षी दल को चुनाव के मौके पर सत्तारूढ़ दल पर हमला करने का मौका मिल गया है। प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष प्रीतम सिंह ने सरकार पर हमला करते हुए कहा कि गुड्डू अब खुद ही यह पोल खोलेंगे कि उनकी भाजपा के साथ क्या डील हुई है।

राहुल गांधी ने पीसीसी चीफ औऱ नेता प्रतिपक्ष को दिल्ली बुलाकर बनाई रणनीति

इस सीट पर कामयाबी मिलने की स्थिति में पार्टी इसे सिर्फ प्रदेश ही नहीं, बल्कि देशभर में भुनाने की तैयारी में है। पार्टी के उच्च पदस्थ सूत्रों की मानें तो इस उपचुनाव की अहमियत देखते हुए ही कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने बीते दिनों प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष प्रीतम सिंह और नेता प्रतिपक्ष इंदिरा हृदयेश को दिल्ली बुलाकर उपचुनाव की रणनीति पर चर्चा की थी।

राष्ट्रीय अध्यक्ष ने कांग्रेस के सभी दिग्गजों को एकजुट होकर चुनाव में जुटने को कहा है। यही वजह है कि पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत, प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष प्रीतम सिंह व नेता प्रतिपक्ष इंदिरा हृदयेश समेत तमाम दिग्गज नेता 10 मई को कांग्रेस प्रत्याशी जीतराम के नामांकन के दौरान थराली में मौजूद रहेंगे ही, साथ में चुनाव प्रचार मुहिम में भी शिद्दत से जुटेंगे।

गुड्डूलाल के बगावती तेवर के बाद कांग्रेस अब भाजपा संगठन और सरकार को निशाने पर लेने में जुटी है। प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष प्रीतम सिंह ने कहा कि भाजपा सिर्फ जोड़तोड़ की राजनीति जानती है। गुड्डू मामले में ऐसा ही हुआ है। चुनाव के मौके पर गुड्डू के साथ ऐसा कौन सा वायदा किया गया, इसकी परत-दर-परत खुलेंगी।



https://ift.tt/2FYDe4B


See More

 
Top