घनसाली: थाना क्षेत्र घनसाली के अंर्तगत घनसाली- चमियाला मोटर मार्ग पर सेंदुल डिग्री कॉलेज के पास सोमवार को हुई बाइक दुर्घटना में दंपती की मौत से गुस्साए लोगों ने लोक निर्माण के खिलाफ ढाई घंटे तक मार्ग पर जाम लगा दिया।

आक्रोशित लोगों ने आरोप लगाया कि उस जगह लोनिवि की ओर से स्टील गार्डर लगाए होते तो यह दुर्घटना होने से बच जाती लेकिन विभाग ने दो वर्षों से उसे ठीक नहीं किया है। मौके पर पहुंचे अधिशासी अभियंता एनएल वर्मा ने मृतकों के परिजनों को दो लाख रुपये का मुआवजा और पूरी सड़क पर डेंजर जोन को शीघ्र ठीक करने का लिखित आश्वासन दिए जाने पर लोगों ने जाम खोला।

सोमवार को घनसाली-चमियाला मोटर मार्ग पर सेंदुल डिग्री कॉलेज के पास ग्राम रगड़ी के दंपती बाइक समेत नदी में जा गिरे। इसमें बाइक चला रहे दिनेश सिंह की मौके पर ही मौत हो गई, जबकि उनकी पत्नी लापता थी। मंगलवार को जलपुलिस ने नदी से महिला का भी शव बरामद कर लिया। इसके खिलाफ ग्रामीणों का लोक निर्माण विभाग के खिलाफ गुस्सा फूट पड़ा। लोगों का कहना है कि अगर सड़क किनारे गार्डर लगा होता तो आज दोनों जिंदा होते.

इसी बीच आज सुबह स्थानीय लोगों ने पूर्व विधयाक भीम लाल आर्य, डॉ नरेन्द्र डंगवाल और कई अन्य के साथ दुर्घटना वाले स्थान पर सड़क में जाम लगाया और शासन-प्रशासन और लोक निर्माण विभाग के खिलाफ जमकर नारेबाजी और मुर्दाबाद के नारे लगाये.

इस दौरान बड़ी बात ये रही कि इस पूर घटनाक्रम में क्षेत्रीय विधायक शक्ति लाल शाह कहीं नहीं दिखे और तो औऱ लापरवाही करने वाले निर्माण विभाग के आला-अधिकारी भी दुर्घटना स्थल नहीं पहुंचे. लेकिन लोगों के हल्ला करने पर विभागी अधिकारी वहां पहुंचे.

मृतकों को मुआवजा देने की लिखित बात कही 

लोगों के हल्ला करने के बाद पूर्व विधायक भीम लाल आर्य और ब्लॉक प्रमुख विजय गुनसोला तथा डॉ नरेन्द्र डंगवाल के अगुवाई में एक्शन लोक निर्माण विभाग ने मृतक परिवार के लिए २ लाख रुँपये देने की लिखित में बात की और तुरंत सड़क की दशा सुधारने की भी बात कही. जिसके बाद ही लोग माने और जाम खुल सका .

विधायक का बड़ा बयान

वहीं पूर्व विधायक भीम लाल आर्य का कहना है कि अधिकारी और नेता दोनों जॉइंट वेंचर बना कर भ्रष्टाचार कर रहे हैं. उन्होंने इस बात का भी खुलासा की या की जब वह विधायक थे उन्हें भी विभाग द्वारा कई तरह के प्रलोभन देने की पेशकश कई बार की गयी थी.



https://ift.tt/2KowoIf


See More

 
Top