देहरादून: एक बार फिर अभद्रता और गाली-गलौच करने के बाद राजकुमार ठउकराल को क्लीन चिट मिल गई है. किच्छा में टोल प्लाजा पर रुद्रपुर विधायक राजकुमार ठुकराल के समर्थकों और पुलिस के मध्य हुई भिड़ंत के मामले में भाजपा के प्रांतीय नेतृत्व ने विधायक राजुकमार ठुकराल को क्लीन चिट दी है।

न जाने कितनी बार विधायक अभद्रता औऱ गाली-गलौज कर चुके हैं ठुकराल, मनोबल बढ़ा रहे

वहीं प्रदेश अध्यक्ष अजय भट्ट ने विधायक ठुकराल को निर्देश देते हुए कहा कि वह अपनी वाणी पर संयम रखें। कहते है सबको एक मौक जरुर देना चाहिए लेकिन यहां एक नहीं दो नहीं बल्कि न जाने कितनी बार विधायक अभद्रता औऱ गाली-गलौज कर चुके हैं. यहां तक की उन्होंने महिला तक को नहीं छोड़ा. खुलेआम महिला से मारपीट का आरोप भी उन पर लग चुका है. ऐसे में पार्टी बार-बार उनके गुनाहों को माफ करने में तुली है. समझ नहीं आ रहा कि माझरा क्या है. गाली-गलौच और गंदी भाषा को छोड़कर ऐसा कौन सा गुण है उनमें जो भाजपा संगठन बार-बार गलती करने, गाली-गलौच करने पर उन्हे बार-बार क्लीन चिट दे देती है. लगता है पार्टी ठुकराल का मनोबल बढ़ा रही है.

अगर यही हरकत करती विपक्षा पार्टी तो आसमान सर पर उठा लेते

अगर यहीं हरकत कोई विपक्षा पार्टी या कोई और करता तो अब तक सर पर आसमान उठा चुके होते लेकिन न जाने क्या झोल है जो विधायक को बार-बार माफ करने में तुली है भाजपा संगठन.

बीते दिनो एक बार फिर विधायक का वीडियों वायरल हुआ जिसमें वह साफ तौर पर अभद्रता औऱ गाली -गलौच करते दिख रहे हैं. साथ ही पुलिसकर्मियों और समर्थकों की झड़प के बीच जाकर गाली-गलौच करते दिख रहे हैं. किसी मंत्रीव-विधायक को ये शोभा नहीं देता.

दरअसल किच्छा में सड़क निर्माण किए बिना टोल टैक्स वसूली के खिलाफ रुद्रपुर विधायक राजकुमार ठुकराल ने वसूली बंद करने का ऐलान किया था। इसे देखते हुए चकुटी स्थित टोल प्लाजा में बड़ी संख्या में विधायक समर्थक पहुंच गए। इस दौरान टोल कर्मी चुपचाप वहां से चले गए। तभी विधायक समर्थकों और पुलिस के मध्य भिड़ंत हो गई थी। टोल प्लाजा के कर्मियों के प्रति अभद्र भाषा का इस्तेमाल करने संबंधी वीडियो भी वायरल हुआ था।

खबर के बाद प्रदेश भाजपा नेतृत्व ने भी संज्ञान लिया

सुर्खियां बनी इस खबर के बाद प्रदेश भाजपा नेतृत्व ने भी संज्ञान लिया। प्रदेश भाजपा अध्यक्ष अजय भट्ट ने अपने विधायक को क्लीन चिट दी है। उन्होंने कहा कि कहा कि कोई भी कंपनी 70 फीसद कार्य पूरा होने पर टोल लागू करती है, लेकिन किच्छा में ऐसा नहीं था।



https://ift.tt/2wogdIH


See More

 
Top