नैनीताल- उत्तराखंड बोर्ड की परीक्षा देने के बाद नैनीताल में होटल की नौकरी कर रहे छात्र का शव नैनी झील में मिलने से सनसनी फैल गई। यह युवक करीब पंद्रह दिन पहले गायब हुआ था। इससे पहले उसने परिजनों और दोस्तों को सेल्फी भी भेजी और साथ ही आत्महत्या करने का जिक्र भी किया।

सुबह पालिका कर्मचारी सफाई करने निकले तो ठंडी सड़क क्षेत्र में गोल्ज्यू मंदिर के समीप झील में उन्हें शव दिखाई दिया। सूचना पर कोतवाल विपिन पंत, एस आई पूरन मर्तोलिया व भावना बिष्ट समेत अन्य पुलिसकर्मी पहुंचे और नाव चालकों की मदद से शव झील से निकाला.

मृतक की पहचान 18 वर्षीय दीपक पुत्र अमर राम निवासी ग्राम सुन्दरपानी बाराकोट, थाना जैती, अल्मोड़ा के रूप में हुई है। पुलिस ने परिजनों को सूचना दे दी।

पुलिस के अनुसार दीपक की 24 अप्रैल को गुमशुदगी दर्ज कराई गई थी। वह परीक्षा देने के बाद नौकरी के लिए नैनीताल आया था। शहर के मल्लीताल पैराडाइज होटल में काम कर रहा था। बताया जाता है कि दीपक ने बोर्ड परीक्षा के दो पेपर नहीं दिए थे। गायब होने से पहले उसने परिजनों, दोस्तों और रिश्तेदारों को सेल्फी भी भेजी। साथ ही यह भी बताया कि वह आत्महत्या करने जा रहा है। इसे सभी ने मजाक में लिया। वह तीन भाई बहनों में दूसरे नंबर का था।



https://ift.tt/2KQrG78



See More

 
Top