रुद्रप्रयाग- उत्तराखंड में सुगम-दुर्गम की लड़ाई चल रही है। कर्मचारी और अधिकारी मैदानी इलाकों और बड़े शहरों के मायाजाल से बाहर नहीं निकल पा रहे। कई सरकारी नौकरी वाले गांव तो दूर छोटे शहरों में जाने से भी कतरा रहे हैं। ऐसे में राज्य के दो युवा अफसरों का जज्बा प्रेरणादायक बन गया है।

हिमालयी क्षेत्र में 11 हजार सात सौ फीट ऊंचाई पर यदि नौकरी करने को कह दिया जाए तो कोई भी परेशान हो सकता है। रुद्रप्रयाग जिले के दो युवा अफसर केदारनाथ धाम में बेहद उत्साह के साथ तीर्थयात्रियों की सेवा कर रहे हैं। इनके नाम हैं एसडीएम गोपाल चौहान और एसआई विपिन पाठक। केदारनाथ में जब-जब भी कठिन चुनौतियां पैदा हो रही हैं तो यह अफसर रात-रात तक मुस्तैद रहते हैं। दरअसल, ये दोनों अफसर और उनकी टीम उत्तराखंड की सच्ची सेवा कर रहे हैं। उनका सेवाभाव देख स्थानीय लोग और यात्री उनकी तारीफ करते नहीं थकते।

डीएम मंगेश घिल्डियाल के भरोसे पर खतरे उतरे एसडीएम चौहान

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का केदारनाथ पर खास ध्यान होने के कारण डीएम मंगेश घिल्डियाल ने एसडीएम गोपाल चौहान पर भरोसा जताया और उन्हें वहां भेजा। वह करीब सालभर से केदारनाथ में ही सेवाएं दे रहे हैं। वह दिन में पुनर्निर्माण कार्यों का निरीक्षण से लेकर मंदिर में व्यवस्थाएं, तीर्थयात्रियों की खाने-पीने और रहने की व्यवस्थाओं पर पूरे जज्बे के साथ काम कर रहे हैं। वीआईपी प्रोटोकॉल के अलावा अन्य प्रशासनिक काम वह वहां रहकर बखूबी निभा रहे हैं।

केदारनाथ में आलू उगाकर सबको हैरत में डाल चुके हैं SI पाठक

एसआई बिपिन चन्द्र पाठक 21 अप्रैल वर्ष 2013 से केदारनाथ में चौकी इंचार्ज हैं। पाठक केदारनाथ जैसे दुर्गम स्थान पर सेवा देकर महज पुलिस ही नहीं तीर्थयात्रियों को भी बड़ी राहत दे रहे हैं। मुसीबत में फंसे तीर्थयात्री की मदद को वह हमेशा तैयार रहते हैं। पुलिस के इस युवा अफसर ने साथियों के साथ मिलकर केदारनाथ बेस कैंप में ब्रहमकमल और भृंगराज की ब्रह्मवाटिका भी तैयार की। इस तरह के फूल 16 हजार फीट तक की ऊंचाई पर मिलते हैं। पाठक की टीम ने केदारनाथ में आलू उगा कर भी लोगों को हैरत में डाल दिया।

रुद्रप्रयाग डीएम और एसपी भी दोनों की तारीफ करते नहीं थकते

डीएम मंगेश घिल्डियाल का कहना है कि बीते एक साल से जीएस चौहान केदारनाथ में पूरी मेहनत से कार्य कर रहे हैं। शीतकाल में पुनर्निर्माण कार्य और अब यात्रा व्यवस्थाओं का जिम्मा देने पर उन्होंने प्रशासन को बड़ी राहत दी है। वहीं एसपी पीएन मीणा का कहना है कि केदारनाथ में एसआई बिपिन चन्द्र पाठक पुलिस कार्यो के साथ ही यात्रा व्यवस्थाओं का बेहतर निर्वहन कर रहे हैं। ऐसे अफसरों पर पुलिस को भी फक्र होता है।



https://ift.tt/2jL7dUX



See More

 
Top