देहरादून- कल से देहरादून वासियों को कूड़े के ढेर औऱ कचरे से फैली दुर्गंध से राहत मिलेगी. जी हां सफाई कर्मचारियों नें हड़ताल को स्थागित कर कल से काम पर लौटने का फैसला किया. दरअसल भाजपा नेता सुशील गामा उनियाल, एसडीएम, नगर आयुक्त ने हड़ताल पर बैठे सफाई कर्मचारियों से वार्ता की औऱ हड़तालियों से 7 दिन का समय मांगा. वहीं इस बार सख्त रवैया न अपनाते हुए सफाई कर्मचारियों ने उनकी बात मन ली और उन्हे 7 की जगह 10 दिन की मोहलत दी. लेकिन इसका मतलब ये नहीं है कि सफाई कर्मचारियों की हड़ताल खत्म हो गई. इस सरकार ये बिल्कुल न मानें की कर्मचारियों ने हार मान ली. ये तो मोहलत का समय पूरा होने के बाद ही पता चलेगा.

साथ ही सफाई कर्मचारियों ने बताया कि वार्चा के बाद बर्खास्त किए गए 164 कर्मचारियों को फिर से काम पर रख लिया गया.

गौरतलब हो कि प्रतिदिन वेतन बढ़ाने की मांग को लेकर सफाई कर्मचारी 7 मई से हड़ताल पर बैठे थे जिससे देहरादून शहर कूड़े औऱ कचरे के ढेर में तब्दील हो गया था. कर्मचारियों को महीना वेतन 5000 मिलता था जिसे सफाई कर्मतारी प्रतिदिन 285 रुपये वेतन की मांग कर रहे थे.

एक तरफ जहां सफाई कर्मचारी अपनी मांगों को लेकर अडिग थे वहीं सरकार भी अपने रवैये पर जस की तस थी सरकार का कहना था कि पहले हड़ताल खत्म करो तब मांगे मानी जाएगी.

सफाई कर्मचारियों के काम पर लौटने के फैसले के बाद सरकार शायद राहत की सांस ले रही है लेकिन ये तो 7 दिन के बाद ही पता चलेगा की सरकार ने क्या फैसला लिया और सफाई कर्मचारी आगे क्या कदम उठाते हैं.



https://ift.tt/2rPvJbg


See More

 
Top