उत्तराखंड पुलिस की सीपीयू में आरक्षी के पद पर तैनात दून की अंजना ने एनआइएस कोचिंग डिप्लोमा कोर्स वुशू खेल में टॉप किया है। इस उपलब्धि पर उन्हें सत्र के समापन समारोह में पंजाब के राज्यपाल वीपी सिंह बदनौर ने सम्मानित किया।

अंजना ने पिछले साल नेताजी सुभाष चंद्र नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ स्पो‌र्ट्स (एनआइएस) पटियाला में वुशू कोचिंग कोर्स के डिप्लोमा के लिए प्रवेश लिया था। अंतरराष्ट्रीय व राष्ट्रीय स्तर पर अपने प्रदर्शन की चमक बिखेर चुकीं अंजना को उत्तराखंड पुलिस स्पो‌र्ट्स कंट्रोल बोर्ड के सचिव एडीजी अशोक कुमार ने पुलिस की वुशू टीम तैयार करने के लिए कोर्स करने भेजा।

Uttarakhand Police ಅವರಿಂದ ಈ ದಿನದಂದು ಪೋಸ್ಟ್ ಮಾಡಲಾಗಿದೆ 8 ಮೇ 2018

 

सत्र 2017-18 में कुल 262 छात्र एनआइएस में डिप्लोमा कोर्स कर रहे थे, जिनमें वुशू खेल में अंजना सर्वाधिक अंकों के साथ टॉपर रहीं। उन्होंने बताया कि डिप्लोमा पूरा करने के बाद एनआइएस पटियाला में ही उन्हें दो महीने के लिए इंटर्नशिप का मौका मिल गया है। अब वे जुलाई में लौटेंगी।

Uttarakhand Police ಅವರಿಂದ ಈ ದಿನದಂದು ಪೋಸ್ಟ್ ಮಾಡಲಾಗಿದೆ 8 ಮೇ 2018

खेल कॅरिअर की बात की जाए तो अंजना सीनियर स्तर पर अब भी उत्तराखंड के लिए खेलती हैं। साथ ही प्रशिक्षण भी दे रही हैं। सेंट्रल जोन वुशू चैंपियनशिप में स्वर्ण पदक और सीनियर चैंपियनशिप में रजत पदक अब तक की उनकी सबसे बड़ी उपलब्धि है। उन्होंने अपनी इस सफलता का श्रेय कोच पीएस गिल के साथ ही माता-पिता को दिया

बता दें कि अंजना वुशू खिलाड़ियों को तैयार करने में अंजना की भूमिका अहम है। वे यमुना कॉलोनी में प्रशिक्षण देती हैं और उनके पास करीब 45 बच्चे प्रशिक्षण लेते हैं। यह सभी बच्चे आर्थिक रूप से कमजोर हैं। इन बच्चों की खेल सामग्री का खर्च भी वे खुद उठाती हैं। अंजना का कहना है कि पिछले एक साल से वे दून में नहीं हैं, लेकिन इस दौरान उनकी बहन काजल रानी बच्चों को प्रशिक्षण दे रही हैं।

 

 

 

The post उत्तराखंड की बेटी ने बढ़ाया प्रदेश का मान, वुशू एनआईओएस में किया टॉप appeared first on www.dainikuttarakhand.com.



https://ift.tt/2I1gXcf


See More

 
Top