एटीएस (एंटी टेरिटेरिस्ट स्क्वॉड) ने उत्तराखंड पुलिस और मिलिट्री इंटेलीजेंस के सहयोग से पिथौरागढ़ से पाक खुफिया एंजेन्सी के लिए काम करने वाले जासूस को गिरफ्तार किया है।

डीडीहॉट इलाके में छिपकर रह रहे  पाक खुफिया एजेन्सी आईएसआई के लिए जासूसी करने वाले शख्स की पहचान रमेश सिंह के रूप में हुई। वह पाकिस्‍तान में भारतीय राजनयिक के घर खाना पकाने वाला रसोइया था। और राजनयिक के घर में काम करते हुए देश से संबंधित जानकारियां जुटाता था और इसे पाकिस्‍तान की खुफिया एजेंसी इं‍टर सर्विसेज इंटेलीजेंस (ISI) को बेच देता था। इसके लिए उसे कुछ पैसे मिल जाते थे।

मूल से उत्‍तराखंड में पिथौरागढ़ के रहने वाले इस शख्‍स को मंगलवार को गिरफ्तार किया गया। वह करीब दो साल तक पाकिस्‍तान में भारतीय राजनयिक के घर खानसामा रहा। रमेश सिंह (35) पर जासूसी का आरोप लगाया गया है। उसे यूपी के आतंकवाद निरोधी दस्‍ते (ATS), सैन्‍य खुफिया तंत्र और उत्‍तराखंड पुलिस के संयुक्‍त अभियान में पिथौरागढ़ के गराली गांव स्थित उसके घर से गिरफ्तार किया गया। उसका बड़ा भाई सेना में काम करता है।’टाइम्‍स ऑफ इंडिया’ की एक रिपोर्ट के मुताबिक, रमेश खेती-बाड़ी करता था। इसी बीच किसी ने उससे पाकिस्‍तान में रसोइये के काम के लिए संपर्क किया, जिसके बाद उसने साल 2015 के मध्‍य से लेकर सितंबर 2017 के बीच पाकिस्‍तान में भारतीय राजनयिक के घर घरेलू सहायक के तौर पर काम किया।

इसी दौरान वह ISI के संपर्क में आया, जिसने उसे खुफिया सूचनाओं के बदले पैसे की पेशकश की। सूत्रों का कहना है कि उसने पैसे के बदले पाकिस्‍तान की खुफिया एजेंसी को एक डायरी और भारतीय राजनयिक से संबंधित कुछ अन्‍य दस्‍तावेज दिए। TOI ने एडिशनल डायरेक्‍टर जनरल (लॉ एंड ऑर्डर) आनंद कुमार के हवाले से दी अपनी रिपोर्ट में कहा है कि हालांकि अभी यह स्‍पष्‍ट नहीं हो पाया है कि ISI ने खुफिया सूचनाओं के बदले रमेश को कितना धन दिया, लेकिन वह 2017 में भारत लौट आया और उसने अपना करीब आठ लाख रुपये का कर्ज चुकाया।

 

The post उत्तराखंड के पिथौरागढ़ जिले से ISI एजेंट अरेस्ट, पैसों के लिए पाकिस्तान को बेच रहा था जानकारी appeared first on www.dainikuttarakhand.com.



https://ift.tt/2IHHc7Z


See More

 
Top