देहरादून- उत्तराखंड पुलिस की सीपीयू में कार्यरत अंजना रानी ने एनआईएस कोचिंग डिप्लोमा कोर्स वुशू खेल में प्रथम स्थान प्राप्त कर प्रदेश का नाम रोशन किया है। इस उपलब्धि पर उन्हें पंजाब के महामहिम राज्यपाल वी.पी. सिंह बदनौर ने सम्मानित किया। अंजना अन्तर्राष्ट्रीय व राष्ट्रीय स्तर पर अपने प्रदर्शन की चमक बिखेर चुकी हैं। सेन्ट्रल जोन वुशू चेम्पियनशिप में स्वर्ण पदक और सीनियर चेम्पियनशिप में रजत पदक अब तक की उनकी सबसे बड़ी उपलब्धि है।

एडीजी अशोक कुमार, सचिव, उत्तराखण्ड पुलिस स्पोर्टस कन्ट्रोल बोर्ड ने अंजना की प्रतिभा को देखते हुए पुलिस की वुशू टीम तैयार करने के लिए उन्हें एनआईएस पटियाल में वुशू कोर्स करने भेजा। सत्र 2017-18 में 262 छात्र एनआईएस में डिप्लोमा कोर्स कर रहे थे, उनमें अंजना सर्वाधिक अंकों के साथ टॉपर रही।

वुशू खिलाड़ियों को तैयार करने में अंजना की अहम भूमिका 

वुशू खिलाड़ियों को तैयार करने में अंजना की भूमिका अहम है। वे यमुना कालोनी देहरादून में करीब 45 बच्चों को निःशुल्क प्रशिक्षण देती हैं। यह सभी बच्चे आर्थिक रुप से कमजोर हैं। इन बच्चों के खेल सामाग्री का खर्च भी वे खुद वहन करती है।

कई बच्चों को दे रही निशुल्क प्रशिक्षण, खुद उठा रही खर्चा

खेल कॅरिअर की बात की जाए तो अंजना सीनियर स्तर पर अब भी उत्तराखंड के लिए खेलती हैं। साथ ही प्रशिक्षण भी दे रही हैं। सेंट्रल जोन वुशू चैंपियनशिप में स्वर्ण पदक और सीनियर चैंपियनशिप में रजत पदक अब तक की उनकी सबसे बड़ी उपलब्धि है। उन्होंने अपनी इस सफलता का श्रेय कोच पीएस गिल के साथ ही माता-पिता को दिया है।



https://ift.tt/2K8NrOt


See More

 
Top