पौड़ी गढ़ावाल : बीते दिनों एसडीएम का वीडियो वायरल हुआ था जिसमें यमकेश्वर SDM कमलेश मेहता शराब के ठेके को खोलने को लेकर ग्रामीणों को धमकी दे रहा है औऱ साथ ही बदसलूकी पर उतारु है. वहीं इससे ग्राम प्रधान संगठन यमकेश्वर में रोष है. जिसके चलते ग्राम प्रधानों ने ग्राम प्रधान के साथ बदसलूकी को लेकर एसडीएम के खिलाफ हल्ला-बोल किया औऱ साथ ही निंदाकर प्रदर्शन किया।

मुख्यमंत्री से की 24 घंटे के भीतर एसडीएम के तबादले की मांग 

संगठन ने मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत से 24 घंटे के भीतर एसडीएम के तबादले की मांग की है। सोमवार को ग्राम प्रधान संगठन यमकेश्वर ने यमकेश्वर SDM कमलेश मेहता के खिलाफ प्रधानों ने मोहनचट्टी में नारेबाजी व प्रदर्शन किया। औऱ यमकेश्वर विधायक के माध्यम से सीएम को ज्ञापन सौंपने की जद में हैं.

प्रस्ताव यमकेश्वर विधायक के माध्यम से सीएम को भेजा जाएगा।

उन्होंने कहा कि प्रशासन का काम आमजन के लिए बुनियादी सुविधाएं सुनिश्चित कराना है, न कि अवैध रूप से शराब के ठेकों को खुलवाना। इसके लिए एक प्रस्ताव भी पारित किया गया, जिसे मंगलवार को यमकेश्वर विधायक के माध्यम से सीएम को भेजा जाएगा।

मोहनचट्टी में शराब के ठेके के अन्यत्र शिफ्ट करने की मांग

ग्राम प्रधान संगठन यमकेश्वर अध्यक्ष दिनेश भट्ट ने कहा कि मोहनचट्टी में शराब के ठेके के अन्यत्र शिफ्ट करने की मांग को लेकर ग्रामीण और प्रधान द्वारा प्रदर्शन किया जा रहा है। उसी समय विरोध प्रदर्शन करने वाले ग्राम प्रधान के साथ एसडीएम द्वारा बदसलूकी की गई। जिससे क्षेत्र की जनता और ग्राम प्रधान का अपमान किया गया।

मनमाने ढंग से किया जा रहा है ठेका संचालित

उन्होंने कहा कि मोहनचट्टी में संचालित ठेका बिजीन चेलूसेण के नाम से स्वीकृत है, लेकिन ठेके को मनमाने ठंग से मोहनचट्टी में संचालित किया जा रहा है। उन्होंने एसडीएम पर आरोप लगाते हुए कहा कि एसडीएम द्वारा ग्राम प्रधान और ग्रामीणों को धमकी भी दी गई।

संगठन के सदस्यों ने मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत को ज्ञापन भेजकर 24 घंटे के भीतर एसडीएम के तबादले की मांग की।



https://ift.tt/2trc9DN


See More

 
Top