• एक भी वायदा पूरा नहीं कर पाई केंद्र सरकार चार साल पहले जो किये थे 
  • प्रदेश में खनन और शराब माफिया सक्रिय
  • देश में शराब भी कई गुना ज्यादा  दामों में है बिक रही 
  • बाहरी प्रदेशों से जमकर हो रही है शराब की तस्करी

मसूरी : पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत ने  प्रदेश के साथ ही केंद्र सरकार पर हमला बोलते हुए कहा कि केंद्र की सरकार चार साल पहले किये गए वायदों में से एक भी वायदा पूरा नहीं कर पाई और आज तक केंद्र की एक भी योजना धरातल पर भी नहीं दिखाई दे रही है। वहीँ  राज्य सरकार पर हमला बोलते हुए उन्होंने कहा ट्रांसफर नीति में उन विभागों को ही बाहर कर दिया,जिनमें सबसे ज्यादा भ्रष्टाचार व्याप्त है।

पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत ने कहा कि प्रदेश में खनन और शराब माफिया सक्रिय हैं। जो बजरी हमारे शासनकाल में   52 रुपये प्रति क्विंटल बिक रही थी,वही आज 120 से 150 रुपए क्विंटल में बिक रही है। उन्होंने कहा  प्रदेश में शराब भी कई गुना ज्यादा दामों में बिक रही है। जबकि अन्य प्रदेशों में यह काफी सस्ती दरों पर बिक रही है, परिणाम स्वरूप राज्य में बाहरी प्रदेशों से शराब की जमकर तस्करी की जा रही है और तस्करी की शराब की गुणवत्ता इतनी खराब बताई जा रही है कि कभी भी कोई बड़ा हादसा हो सकता है। 

हरीश रावत ने कहा कि प्रदेश की त्रिवेन्द्र रावत सरकार भ्रष्टाचार पर जीरो टॉलरेंस की तो बात कर रही है, लेकिन ट्रांसफर नीति में उन विभागों को ही बाहर कर दिया,जिनमें सबसे ज्यादा भ्रष्टाचार व्याप्त है। उन्होंने कहा कि सरकार की कथनी और करनी में काफी अंतर है। जो स्थानांतरण नीति के लागू होने की बाद भी साफ़ दिखाई दे रहा है। 

राज्य सरकार द्वारा नगर निकाय के चुनाव ना कराये जाने के सवाल पर पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत ने कहा कि राज्य सरकार संविधान संशोधन 73, 74 के प्रभाव को समाप्त करना चाहती है,जिस कारण वह षडयंत्र के तहत कोर्ट में निकाय चुनाव को लेकर सही तरीके से अपना प़क्ष नहीं रख पा रही है।

वहीँ हरीश रावत ने मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र रावत के ड्रीम प्रोजेक्ट रिस्पना और कोसी नदी के पुनः जीवित करने की योजना पर सवाल उठाते हुए कहा की राज्य सरकार द्वारा दोनो नदी को पुनः जीवित करने की बात तो की जा रही है,परन्तु नदी के दोनो ओर अतिक्रमण भी करवाया जा रहा है। उन्होंने कहा रिस्पना नदी के उदगम क्षेत्र से लेकर अंतिम छोर तक नदी के आसपास के नालों पर लगातार पक्के अतिक्रमण हो चुके है जो पूणतः अवैध हैं । उन्होने कहा कि अगर सरकार को पुनः जीवित का कार्य करना है तो रिवर फ्रंट डेवलपमेंट के तहत यह कार्य करना चाहिए।

इस अवसर पर कांग्रेस उपाध्यक्ष जोत सिंह विष्ट,अमरदीप सिंह,पूर्व पालिकाध्यक्ष मनमोहन सिंह मल्ल,पूर्व विधायक जोत सिंह गुनसोला,संदीप साहनी,सतीश ढौडियाल,रजत अग्रवाल सहित पार्टी कार्यक्रर्ता मौजूद रहे।



https://ift.tt/2LKhNHM


0 comments:

Post a Comment

See More

 
Top