बागेश्वर : तेंदुए  द्वारा दो माह के भीतर दो बच्चों को अपना निवाला बनाये जाने की दूसरी घटना से बागेश्वर जिले के हरीनगरी गांव के ग्रामीण आक्रोशित हैं।  बीती रात गरुड़ तहसील के हरीनगरी गांव में घर के आंगन में खेल रहे सात साल के बच्‍चे दीपक को तेंदुआ उठा ले गया। मंगलवार सुबह उसका शव घर से दो सौ मीटर दूर अमस्यारी वन पंचायत में क्षेत्र में क्षत-विक्षत हालत में मिला।

प्राप्त जानकारी के अनुसार राजस्व पुलिस क्षेत्र हरीनगरी गांव में बीती  रात लगभग 9 बजे दीवान राम का पूरा परिवार घर के आंगन में बैठा था। दीवान राम की पत्नी हीरा देवी आंगन के बगल में ही बाहर खाना बना रही थी। वहीं पर दीवान राम का छोटा पुत्र दीपक (7 वर्ष) भी खेल रहा था। तभी ऊपर से एक गुलदार ने छलांग लगाई और दीपक कुमार को उठाकर जंगल की ओर ले भागा।

अचानक हुई इस घटना से परिजनों में कोहराम मच गया। यह खबर पूरे इलाके में आग की तरह फैल गई। देखते ही देखते सारे इलाके के ग्रामीण जमा हो गए और दीपक की खोजबीन में जुट गए। दीपक कुमार हरीनगरी के ग्राम प्रधान लक्ष्मण आर्या के चाचा का छोटा लड़का है।

घटना की सूचना मिलते ही एसडीएम सुंदर सिंह, थानाध्यक्ष मदन लाल और वन विभाग की टीम मौके पर पहुंची। रातभर खोजबीन के बाद सुबह लगभग 8 बजे मासूम का क्षत-विक्षत शव अमस्यारी वन पंचायत की घनी झाड़ियों में बरामद हुआ। गौरतलब हो कि इसी वर्ष 23 मार्च को हरीनगरी निवासी दीपक राम के छोटे पुत्र करन को भी गुलदार घर के आंगन से उठा ले गया था, लेकिन वन विभाग अभी तक गुलदार को नहीं पकड़ सका है जिससे इलाके में दहशत का माहौल है और ग्रामीण आक्रोशित हैं । 



https://ift.tt/2y2lPco


See More

 
Top