• भारतीय कनो सलालम टीम हेतु आयोजित 24 दिवसीय प्रशिक्षण शुरू 

रुद्रप्रयाग : जिस मंदाकिनी नदी ने 2013 की आपदा में केदारनाथ से लेकर ऋषिकेश तक विध्वंस किया अब वही पावन ओर पवित्र मंदाकिनी खेल में स्वर्ण पदक और पर्यटन द्वारा रोजगार प्रदान करेगी। उत्तराखंड में वाइट वाटर स्पोर्ट्स करने वाले 200 से अधिक खिलाड़ी हैं। जबकि झारखंड राष्ट्रीय खेलों में भी सलालम का स्वर्ण पदक उत्तराखंड ने ही जीता था। अब एक बार फिर कैनो सलालम का प्राशिक्षण यहाँ  शुरू होने पर मुझे विश्वास  है कि एक साल में इन खेलों के अंतरराष्ट्रीय खिलाड़ी उत्तराखंड से पैदा होंगे।

यह कहना है केदारनाथ के युवा विधायक मनोज रावत का। जो  स्पोर्ट्स ऑथोरिटी ऑफ इंडिया द्वारा एशियाई खेल -2018 में भाग लेने जा रही , सीनियर भारतीय कनो सलालम टीम हेतु आयोजित 24 दिवसीय (7 जून से 30 जून 2018तक) प्राशिक्षण शिविर का औपचारिक उदघाटन कर रहे थे।

 रुद्रप्रयाग जिले के चंद्रापुरी के गबनी गांव में केदारनाथ विधायक मनोज रावत के अथक प्रयासों से आयोजित यह प्रशिक्षण शिविर उत्तराखंड में पहली बार आयोजित किया जा रहा है।  यह पहला अवसर है जब किसी खेल की राष्ट्रीय टीम का प्राशिक्षण केदारघाटी जैसे दूरस्थ स्थान पर हो रहा है। कैम्प का आयोजन इंडियन कयाकिंग एन्ड कैनोइंग एसोसिएशन की उत्तराखंड इकाई, उत्तरांचल कयाकिंग, कैनोइंग एन्ड राफ्टिंग एसोसिएशन कर रही है।

कार्यक्रम के उद्घाटन के दौरान  विधायक केदारनाथ मनोज रावत व उत्तरांचल कयाकिंग, कैनोइंग एन्ड राफ्टिंग एसोसिएशन के सचिव मनोज रावत और जिला अधिकारी रुद्रप्रयाग ने टीम के कोचों व खिलाड़ियों से परिचय किया। परिचय के बाद खिलाड़ियों ने मंदाकिनी नदी की तेज धारा पर बन रहे रैपिड्स पर स्थापित किये गेटों को नदी की दिशा में और विपरीत दिशा में पार किया। कैम्प में साई के फ्रांस निवासी विदेशी कोच जिमी विरकोन , वरिष्ठ सहायक कोच देवेंद्र गुप्ता, कनिष्ठ सहायक कोच दिग्विजय सिंह की द्वारा यहाँ 10 भारतीय टीम के खिलाड़ियों को प्रशिक्षण दिया जा रहा है।

गौरतलब हो कि ओलम्पिक खेलों में कनो सलालम की स्पर्धाओं में 4 स्वर्ण, 4 रजत और 4 कांस्य पदक हैं। कैनो और कयाक सलालम बहती हुई पहाड़ी नदी पर आयोजित होने वाला खेल है। उत्तराखंड में दर्जनों नदिया इस स्तर को पूरा करती हैं।जहाँ इस तरह के प्रशिक्षण और प्रतिस्पर्धात्मक आयोजन किये जा सकते  हैं। 

खिलाड़ियों के नाम –
प्रिंस, विशाल, राजा, विश्वजीत, धीरज, राहुल त्रिलोक, राहुल बलिराम , चंपा, आरती, जान्हवी।



https://ift.tt/2HDewr6


See More

 
Top