कोटद्वार : पौड़ी गढ़वाल के कोट्द्वार में कोतवाली पहुंची महिला ने एसएसआइ को ही थप्पड़ जड़ दिया. दरअसल किडनी खराब होने से हुई बेटे की मौत का मुकदमा दर्ज करवाने परिजनों के साथ कोतवाली पहुंची एक महिला ने एसएसआइ की वर्दी खींचते हुए उन्हें थप्पड़ जड़ दिया। पुलिस ने किसी तरह हंगामा कर रहे लोगों को कोतवाली से बाहर खदेड़ा। मामले में एसएसआइ की ओर से महिला सहित कई अन्य के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराया गया है।

दरअसल, गुरुवार को लैंसडौन तहसील के झिंडीडांडा गांव से कुछ ग्रामीण कोतवाली पहुंचे। ग्रामीणों के साथ पहुंचे यशपाल सिंह बिष्ट ने बताया कि गत अप्रैल माह में उनका बेटा अमित परीक्षा देने के लिए कोटद्वार आया हुआ था। इसी बीच उसके एक परिचित ने फोन कर उसे बाजार मिलने के लिए बुलाया। जब अमित उससे मिलने के लिए पहुंचा तो उस व्यक्ति ने उसके साथ मारपीट शुरू कर दी। घायल अवस्था में अमित के कुछ दोस्तों ने उसे राजकीय संयुक्त चिकित्सालय में भर्ती करवाया, जहां से चिकित्सकों ने उसे हायर सेंटर रेफर कर दिया था।

हायर सेंटर रेफर के बाद टेस्ट में पता चला कि अमित की दोनों किडनियां खराब हो गई थी। जिसके बाद उपचार के दौरान अमित ने दो जून को दम तोड़ दिया।

ग्रामीणों का आरोप था कि अमित के साथ हुई मारपीट के दौरान उसकी किडनी खराब हुई। उन्होंने बताया कि उनकी ओर से इस संबंध में कोतवाली में तहरीर दी गई थी, लेकिन पुलिस ने आरोपी के खिलाफ हत्या का मामला दर्ज नहीं किया। ग्रामीणों की बात सुन रहे एसएसआइ राकेंद्र कठैत उन्हें समझाने का प्रयास कर रहे थे, इसी दौरान ग्रामीणों के साथ मौजूद अमित की एक रिश्तेदार लीला देवी आगे आईं और एसएसआइ की वर्दी झपटते हुए उनके मुंह पर तमाचा मार दिया। एसएसआइ को तमाचा पड़ते ही आसपास मौजूद पुलिस कर्मियों ने महिला सहित अन्य लोगों को किसी तरह कोतवाली से बाहर किया।

इधर, मामले में एसएसआई राकेंद्र कठैत की ओर से लीला देवी के साथ ही यशपाल सिंह बिष्ट, जय सिंह, दीपक, उमेद सिंह, महेंद्र सिंह, हेम सिंह सहित आठ-दस अन्य के खिलाफ मामला दर्ज कर दिया गया है।



https://ift.tt/2JHTMRa


See More

 
Top