जनता दरबार में महिला शिक्षिका द्वारा अपशब्दों के इस्तेमाल को लेकर उत्तराखंड के मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र रावत ने शिक्षिका को संस्पेंड कर दिया है।

वहीं उत्तराखंड विद्यालयी शिक्षा की सचिव भूपिंदर कौर ओलख ने तर्क दिया कि उन्हें इसलिए निलंबित कर दिया गया है क्योंकि उसने एक शिक्षक के रुप में शिष्टाचार के नियमों का उल्लंघन किया है। इसकी जांच की जाएगी। हम उन्हें भी सुनेंगे और उसके बाद ही निर्णय लिया जाएगा।

ये भी पढ़ेंः सरकार की नाकामियां छिपाने के लिए जारी किया गया सर्जिकल स्ट्राइक का वीडियोः मायावती

ओलख ने प्रेस कॉन्फ्रेंस को संबोधित करते हुए कहा कि उनका केवल जिले के भीतर ही स्थानांतरण किया जा सकता है। उनकी मांग है कि अंतर जिला स्थानांतरण के तहत उनका देहरादून में स्थानांतरण (Transfer) किया जाए, लेकिन इस समय अधिनियम में यह अनुमति नहीं है।

उन्होने बताया कि दूरदराज के इलाकों में 58 से ज्यादा लोग उससे अधिक अवधि के लिए तैनात हैं। उनका नंबर 59 वां है। स्थानांतरण केवल बारी-बारी से किया जाता है। 

 



from https://ift.tt/2yWlLM2


0 comments:

Post a Comment

See More

 
Top