देहरादून-अतिक्रमण के खिलाफ महाअभियान में टास्क फोर्स पूरी तैयारी के साथ आज शहर की विभिन्न सड़कों पर उतरी। टीम ने अतिक्रमण चिह्नित करते हुए लाल निशान लगाए। हाईकोर्ट के आदेश के बाद शुरू हुए अतिक्रमण के खिलाफ महाअभियान में शहर को चार जोन में बांटा गया और हर जोन के लिए अधिकारी और पुलिस फोर्स तय की गई।  कई जगहों पर चिह्नीकरण की कार्रवाई पूरी होने के बाद ध्वस्तीकरण की कार्रवाई अमल में लाई गई जिसका लोगों ने जमकर विरोध किया लेकिन भारी पुलिस बल की वजह से लोग टीम को रोक नहीं पाए। टीम ने चिह्नीत जगहों पर जाकर जेसीबी से अतिक्रमण को हटाया।

रिस्पना पल पर शेरवुड स्कूल का गेट टास्क फोर्स की टीम द्वारा तोड़ दिया गया

रिस्पना पल पर शेरवुड स्कूल का गेट टास्क फोर्स की टीम द्वारा तोड़ दिया गया है। इस दौरान ट्रैफिक भी डायवर्ट किया गया है। इस रास्ते ट्रैफिक भी डायवर्ट किया गया है। अतिक्रमण हटाने के चलते नेहरू कॉलोनी समेत कई इलाकों की लाइट भी गुल रही। जहां जहां अभियान चल रहा उन इलाकों की बिजली गुल से लोग उमस से पेरशान रहे।

रिस्पना पुल से प्रिंस चॉक तक रूट में 150 से ज्यादा अतिक्रमण चिन्हित

गौरतलब है कि आज से 6 माह पहले पीडब्लयूडी, नगर निगम और तहसील की टीम ने जो अतिक्रमण रिस्पना पुल से प्रिंस चॉक तक चिन्हित किये थे वो सब तोड़े जा रहे। इस रूट में 150 से ज्यादा अतिक्रमण चिन्हित किये थे। त्यागी रोड के होटल भी आएंगे जद में क्योंकि त्यागी रोड में ही तीन दर्जन से ज्यादा होटल व भवन पर लाल निशान लगे हुए हैं।

चिह्नीकरण और ध्वस्तीकरण के लिए दो अलग अलग टीमें बनाई हैं

प्रशासन की ओर से चिह्नीकरण और ध्वस्तीकरण के लिए दो अलग अलग टीमें बनाई हैं। टीमों ने आज भी नाप जोख का काम शुरू करने के बाद अवैध अतिक्रमण पर लाल निशान लगाए।  टास्क फोर्स ने अतिक्रमणकारियों को 24 घंटे में जगह खाली करने का नोटिस भी हाथों हाथ थमाया।

अतिक्रमणकारी भवन और प्रतिष्ठान स्वामियों को अतिक्रमण करने की वजह से नोटिस थमाए गए  हैं। टास्क फोर्स की ओर से राजपुर रोड, हरिद्वार रोड, निरंजनपुर मंडी और चकराता रोड चार जोन बनाए गए हैं। गौरतलब है कि टीम ने पहले दिन 126 अतिक्रमण चिह्नित किए थे और अतिक्रमणकारियों को 24 घंटे में कब्जाई जगह खाली करने का नोटिस थ



https://ift.tt/2lDSOuD


See More

 
Top