डोईवाला- बुल्लावाला चौक स्थित प्राइमरी स्कूल में वर्षों पुराना पिलखनक का पेड़ काटे जाने से सैकड़ों बगुलों की मौत हो गयी।
मामला डोईवाला के बुल्लावाला गांव का है, जहां स्कूल प्रांगण में वर्षो पुराना पिलखन का पेड़ है, जिस पर हजारों बगुलों का आशियाना है, जिसकी वजह से आये दिन स्कूली छात्रों को परेशानियों का सामना करना पड़ता है, साथ ही आये दिन पक्षियों की मौत भी होती रहती है, ओर पेड़ के नीचे बगुलों के अन्डों के गिरने व मरने से गंदगी फैली रहती है, जिससे बच्चों के बीमार होने का खतरा मंडराने लगा था और इससे माता-पिता भी अपने बच्चों को स्कूल भेजने से कतराने लगे थे, जिससे तंग आकर ग्रामीणों ने पेड़ को तने तक काट दिया। और पेड़ पर निवास करने वाले 100 से अधिक बगुलों की मौत हो गयी।


https://ift.tt/2KMxHFI


0 comments:

Post a Comment

See More

 
Top