बुधवार को हैदराबाद पुलिस ने एक हिंदू संत को दूसरे समुदाय के खिलाफ कथित तौर पर भड़काऊ बयानबाजी करने के लिए शहर से छह महीने के लिए निर्वासित कर दिया.

श्री पीठम के स्वामी परिपूर्णानंद को पुलिस ने बुधवार को उठा लिया और उन्हें शहर से बाहर ले जाया गया. वह बीते दो दिनों से नजरबंद थे. सूत्रों का कहना है कि उन्हें आंध्र प्रदेश में काकीनाडा कस्बे के उनके आश्रम में भेजा जाएगा.

हैदराबाद के पुलिस आयुक्त अंजनी कुमार ने तेलंगाना समाज विरोधी एवं खतरनाक गतिविधि रोकथाम अधिनियम, 1980 के तहत निर्वासित का आदेश जारी किया.

यह कदम तेलंगाना पुलिस द्वारा फिल्म समालोचक काथी महेश को भगवान राम और सीता पर कथित टिप्पणियां करके हिंदुओं की धार्मिक भावनाएं आहत करने को लेकर हैदराबाद से छह महीने के लिए तड़ीपार किए जाने के दो दिन बाद उठाया गया है.

महेश को शहर से बाहर ले जाया गया और आंध्र प्रदेश के चित्तूर जिले में उनके पैतृक स्थान पर पहुंचा दिया गया.

इसी दिन पुलिस ने स्वामी परिपूर्णानंद को नजरबंद किया था. परिपूर्णानंद ने महेश की टिप्पणी के खिलाफ विरोध प्रदर्शन शुरू करने की योजना बनाई थी. इस हिदू संत ने हैदराबाद के बाहरी इलाके बोद्दुप्पल में शिवमंदिर से यदाद्री तक तीन दिवसीय यात्रा की घोषणा की थी.

परिपूर्णानंद पॉश जुबली हिल्स इलाके में एक रियल एस्टेट व्यापारी के घर में रह रहे थे. भाजपा के कई नेताओं, विश्व हिंदू परिषद व दूसरे संगठनों ने पुलिस कार्रवाई पर आपत्ति जताई है.

पुलिस ने कहा कि स्वामी ने हैदराबाद, कामारेड्डी में और तेलंगाना में अन्य स्थानों पर अपनी सभाओं में भड़काऊ बयान दिए थे. स्वामी ने नवंबर 2017 में ‘राष्ट्रीय हिंदू सेना’ नामक एक संगठन शुरू किया था.



https://ift.tt/2zsnd8W


See More

 
Top