मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने सोमवार को सचिवालय से वीडियो  कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से जनपद अल्मोड़ा एवं बागेश्वर विधानसभा क्षेत्रों के लिए मुख्यमंत्री घोषणाओं की प्रगति की समीक्षा की. बैठक में कैबिनेट मंत्री मदन कौशिक, हरक सिंह रावत, राज्य मंत्री महिला व बाल कल्याण विभाग श्रीमती रेखा आर्य , विधायक सुरेन्द्र सिंह जीना, बलवंत सिंह भौंर्याल, करन माहरा, चन्दन राम दास, महेश नेगी, मुख्य सचिव उत्पल कुमार सिंह सहित शासन के वरिष्ठ अधिकारी व जिला मुख्यालय पर जिलाधिकारी सहित जिला स्तरीय अधिकारी उपस्थित थे.

अल्मोड़ा – संस्कृति विभाग द्वारा जानकारी दी गई की मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत की घोषणा के अनुसार ऐपण कला को प्रोत्साहन देने हेतु राज्य के सभी 13 जिलों के एक-एक विकास खण्ड में 2-2 लाख रूपये की धनराशि दी जा रही है. अभी तक राज्य के 7 जिलों में धनराशि जारी की जा चुकी है. शेष 6 जिलों को इसके लिए अगस्त के पहले सप्ताह में धनराशि जारी कर दी जाएगी. गौरतलब है कि अल्मोड़ा जिले में ‘‘चेली ऐपण‘‘ संस्था के तर्ज पर सभी जिलो में ऐपण कला के प्रोत्साहन हेतु समूहो का गठन किया जाएगा. अल्मोड़ा नगर व अन्य पर्वतीय कस्बों में पार्किंग पर मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र ने कहा कि राज्य सरकार शीघ्र ही पर्वतीय कस्बों में पार्किंग निर्माण व कुशल प्रबन्धन व संचालन के सम्बन्ध में जल्द ही कैबिनेट में नीतिगत निर्णय लिया जाएगा. बैठक में जानकारी दी गई कि पर्यटन स्थल कसारदेवी के लिए नया विद्युत फीडर लगाने हेतु स्वीकृति जारी हो चुकी है तथा कार्य आवंटन भी हो चुका है. सचिव विद्यालयी शिक्षा ने जानकारी दी कि राजकीय इण्टर कालेज रैंगल में 04 कक्षा कक्षों के निर्माण हेतु 63.59 लाख रूपये की धनराशि स्वीकृत की जा चुकी है तथा कार्य प्रगति पर है. प्राथमिक स्कूल तलाड में भवन निर्माण हेतु अनुमोदित धनराशि हेतु 56.40 लाख रूपये के सापेक्ष 40 प्रतिशत धनराशि 22.40 लाख रूपये की धनराशि जारी की जा चुकी है तथा कार्य प्रगति पर है.

सोमेश्वर- बैठक में जानकारी दी गई कि सोमेश्वर में ताकुला में 33/11 के.वी. उपसंस्थान के निर्माण, राजकीय जूनियर हाईस्कूल भेटूली के पुर्ननिर्माण हेतु कार्यवाही गतिमान है. विकासखण्ड ताकुला में पुलिस थाना भवन की सांई नदी से बाढ़ सुरक्षा हेतु दीवार निर्माण को शीघ््रा करवा दिया जाएगा. शीतलाखेत को पर्यटन सर्किट से जोड़ने हेतु 15 दिन के भीतर अनुमोदन आदेश जारी कर दिया जाएगा. इस सम्बन्ध में लगभग 36 लाख का आगंणन शासन को भेज दिया गया है. दौलाघाट ग्राम समूह पेयजल योजना हेतुू शासन द्वारा 88.10 लाख रूपये की धनराशि स्वीकृत कर दी गई है. काकडीघाट के पास प्रस्तावित झील हेतु डीपीआर अनुमोदित की जा चुकी है. सोमेश्वर में नैनी जाना गिनाई मोटर मार्ग (8 किमी0) के डामरीकरण व सुधारीकरण हेतु टैन्डर कर दिए गए है तथा 341.94 लाख रूपये स्वीकृत कर दिए गए हैं. कालिकमा दलमोटी मोटर मार्ग के डामरीकरण एवं सुधारीकरण हेतु भी टैन्डर हो गए है तथा 225.78 लाख रूपये स्वीकृत हो गए है.

कपकोट- मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र ने जिला प्रशासन को निर्देश दिए कि कपकोट में सरयू नदी के उदगम स्थल सरमूल सौधारा के विकास हेतु ठोस कार्ययोजना पर कार्य किया जाए. मुख्यमंत्री ने कहा कि सरयू नदी के संरक्षण एवं अविरल धारा को बनाए रखने के लिए व्यापक जनभागीदारी से वृक्षारोपण, जल सरंक्षण पर विशेष ध्यान दिया जाए. कपकोट विधाससभा क्षेत्र के सम्बन्ध में जानकारी दी गई कि उरेडा से यूपीसीएल को हस्तांतरित गांवों के तहत कपकोट में 20 गावों में से 12 गांव में यूपीसीएल द्वारा विद्युत लाईनों व संयत्रों का पुर्नगठन कर दिया गया है. शेष 6 गांव में अभी उरेडा द्वारा विद्युत सप्लाई की जा रही है. शेष कार्य आगामी अक्टूबर तक पूरा कर लिया जाएगा. दवाली में लगभग 60 मीटर स्पान झूला पुल का कार्य मई 2019 तक पूरा हो जाएगा. कपकोट में किडई, दोफाड, मालूखेत व बैसानी में मिनी स्टेडियम हेतु भूमि चिहनीकरण हो गया है. नगर पंचायत कपकोट में रैन बसेरा निर्माण हेतु शासनादेश एक महीने के भीतर जारी हो जाएगा. कपकोट -पिण्डारी मोटर मार्ग की पुर्नस्थापना का 75 प्रतिशत कार्य पूरा हो चुका है शेष कार्य 15 अगस्त 2018 तक पूरा हो जाएगा. महरूडी पठक्यूडा मोटर मार्ग हेतु 175.69 लाख रूपये की धनराशि स्वीकृत हो चुकी है तथा टैन्डर जारी हो चुके है.

बागेश्वर- मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र ने निर्देश दिए कि सभी अधूरे निर्माणाधीन कार्यो को प्राथमिकता से पूरा किया जाय. मुख्यमंत्री ने निर्देश दिए कि बागेश्वर नगर समेत सभी पर्वतीय नगरों में कूड़ा निस्तारित करने वाली आधुनिक ‘‘किल वेस्ट’’ मशीन स्थापित करने की कार्ययोजना पर गम्भीरता से कार्य किया जाय. यह मशीन सभी नगरों के डम्पिंग ग्राउण्ड में लगाई जाए. शीघ््रा ही बागेश्वर नगर में प्लास्टिक बोतल/कूड़े के निस्तारण हेतु स्मार्टबिन मशीन आवटिंत की जाएगी. बागेश्वर विधानसभा क्षेत्र के सम्बन्ध में जानकारी दी गई कि बागनाथ मन्दिर में धर्मशाला निर्माण एवं बैजनाथ मन्दिर गरूड़ में संग्रहालय के निर्माण भारतीय पुरातत्व सर्वेक्षण से अनुमति के साथ डीपीआर की प्रक्रिया गतिमान है. बागेश्वर जिला अस्पताल में लैपरोस्कोपिक सर्जन की व्यवस्था के सम्बन्ध में शीघ््रा ही उक्त अस्पताल में तैनात सर्जनों को ही लैपरोस्कोपिक सर्जरी का प्रशिक्षण हेतु भेजा जाएगा. कुकडामाई-गिरेछीना-पालडीछीना मैंचुला माई मन्दिर को पर्यटन सर्किट से जोड़ने हेतु कुमाऊॅ मण्डल विकास निगम द्वारा 14 करोड़ का प्रस्ताव भेजा गया है. योजना के तहत यहां पर ट्रेक रूटस, व्यू प्वाइंट, हिमालय दर्शन व यात्री दर्शन प्वाइंट विकसित किए जाएगे. बिलौना में निर्मित रोजवेज बस अडडा व प्रेक्षागृह का कार्य निर्माणधीन है. गोमती नदी के दाहिने तट में महन्त बगीचे के पास घाट का निर्माण कार्य फरवरी 2019 तक पूरा हो जाएगा. भराडी कपकोट में खाद्यान्न गोदाम के निर्माण को स्वीकृति मिल चुकी है तथा इस सम्बन्ध में शासनादेश जारी हो चुका है.

द्वाराहाट- द्वाराहाट क्षेत्र में छाना भेंट मिनी स्टेडियम व बिन्ता में मिनी स्टेडियम के निर्माण हेतु भूमि उपलब्ध हो गई है. इस सम्बन्ध में अनुमोदन आदेश एक महीने में जारी हो जाएगा. मनसा देवी मन्दिर के सौन्दर्यीकरण पर कार्यवाही गतिमान है. कामा गांव में स्थित गगास नदी पर 42 मी0 स्पान स्टील गर्डर पैदल सेतु की पुन:स्थापना एवं सुरक्षात्मक कार्यो को शासन से स्वीकृति मिल चुकी है तथा जून 2019 तक कार्य पूरा हो जाएगा.

सल्ट-मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र ने सल्ट समेत सभी विधासनसभा क्षेत्रों में बालिका विद्यालयों में शौचालय निर्माण को सर्वाेच्च प्राथमिकता से करवाने के निर्देश दिए. मुख्यमंत्री ने जिला प्रशासन को निर्देश दिए कि सल्ट के मनीला में जड़ी बूटी व फल उत्पादन को बढ़ावा देने हेतु विभिन्न फलों के हब विकसित हेतु साॅयल टेस्टिंग, सर्वे व पौधा वितरण का कार्य व्यवस्थित ढंग से की जाए. जिला उद्यान विभाग द्वारा फलों के पौधो का वितरण सुनिश्चित करवाया जाय. मुख्यमंत्री ने निर्देश दिए कि सदरा-डौटियाल मार्ग पर सुगन्धित पुष्प लगाकर सौन्दर्यीकरण करवाया जाए ताकि यह पर्यटकों के लिए आकर्षण केन्द्र के रूप में विकसित हो. सल्ट क्षेत्र के विकास कार्यो के सम्बन्ध में जानकारी दी गई कि मरचूला में झील निर्माण हेतु डीपीआर नवम्बर तक बन जाएगी तथा 22.57 लाख रूपये की धनराशि स्वीकृत हो चुकी है. क्षेत्र में विभिन्न मोटर मार्गो के डामरीकरण व सुधारीकरण के कार्य प्रगति पर है. स्याल्दे में स्टेडियम हेतु धनराशि निर्गत की जा चुकी है व कार्यवाही गतिमान है.



from https://ift.tt/2OcuCfR


See More

 
Top