जिले में लगातार हो रही बारिश से एनएच जगह-जगह मलबे से पट गया है। वहीं मौसम विभाग ने सात जिलों के लिए रेड अलर्ट जारी किया है. औऱ साथ ही बादल फटने की भी आशंका जताई है.

आपको बता दें बारिश उत्तराखंड में लगातार भूस्खलन और बाढ़ जैसे हालात पैदा हो गई हैं. लगातार दरक रहे बोल्डरों के चलते मौके पर तैनात की गईं जेसीबी और पोकलैंड से मलबा हटाने में भी दिक्कतें हो रही हैं। इसके चलते दिन भर एनएच बंद रहा। सुबह छह बजे से ही यातायात हल्द्वानी से डायवर्ट कर दिया गया था। एसपी धीरेंद्र गुंज्याल ने एहतियातन अगले 24 घंटे के लिए एनएच पर वाहनों की आवाजाही बंद कर दी है। आवागमन के लिए लोगों को हल्द्वानी वाया देवीधुरा रोड से आवागमन करना होगा।

शनिवार रात बारिश शुरू होते ही चम्पावत-टनकपुर के बीच स्वाला, धौन, टिपनटॉप, अमरूबैंड और बस्तिया आदि स्थानों पर हाईवे बोल्डर और मलबे से पट गया। सूचना मिलते ही प्रशासन की ओर से सुबह छह बजे ही रूट डायवर्ट कर दिया गया था। इधर धौन और स्वाला में आया मलबा दोपहर करीब एक बजे हटा लिया गया था, मगर अमरू बैंड के पास नाले के साथ बहकर आ रहे बड़े बोल्डरों के कारण जेसीबी और पोकलैंड से मलबा हटाने का कार्य शुरू नहीं किया जा सका। कई बार मौके पर तैनात कर्मचारियों ने मलबा हटाने का प्रयास किया तो ऊपर से गिरते बोल्डरों को देख उन्हें भागना पड़ा।





See More

 
Top