देहरादून – उत्तराखंड में बारिश का दौर जारी है…मानसून कू बारिश से जन जीवन अस्त-व्यस्त है…कहीं लोगों के घरों में पानी घुस गया तो कइयों के मकान उजड़ गए…कहीं उफनते नाले ने कई मासूमों की जान ले ली. वहीं मौसम विभाग के अनुसार शनिवार से सोमवार तक मौसम के लिहाज से संवेदनशील समय है। इस दौरान देहरादून, टिहरी, पौड़ी, नैनीताल, ऊधमसिंह नगर, चम्पावत और पिथौरागढ़ में भारी से बहुत भारी बारिश हो सकती है।

राज्य मौसम केंद्र के निदेशक बिक्रम सिंह के अनुसार इस दौरान यात्रियों को विशेष सतर्कता बरतनी होगी। वहीं, भूस्खलन के चलते प्रदेश में 90 मार्ग बंद हैं। मार्गों पर मलबा आने का सिलसिला जारी है। देहरादून जिले में चकराता-कालसी मार्ग भी मलबा आने के कारण करीब नौ घंटे बाधित रहा। हालांकि केदारनाथ और बदरीनाथ हाईवे पर यातायात सुचारु रहा। जबकि यमुनोत्री मार्ग दो स्थानों पर अब भी बंद है।

मौसम विज्ञान केंद्र ने आने वाले तीन दिन 11 से 13 अगस्त के बीच देहरादून में भारी से भारी बारिश की चेतावनी जारी की है। जिससे इस बात की संभावना बढ़ गई है कि पिछले पांच सालों के बाद देहरादून में अगस्त महीने में इस बार सर्वाधिक बारिश हो सकती है। वर्ष 2008 से 2018 के बीच दस सालों में केवल वर्ष 2012 के अगस्त महीने में सर्वाधिक 1025.6 मिलीमीटर बारिश रिकॉर्ड की गई थी। राज्य मौसम विज्ञान केंद्र के निदेशक बिक्रम सिंह के मुताबिक आने वाले तीन दिनों में देहरादून एवं आसपास के क्षेत्रों में भारी से बहुत भारी बारिश की संभावना है। जिसे देखते हुए चेतावनी जारी की गई है।





See More

 
Top