सोमवार को जौलीग्रांट एयरपोर्ट से जैव ईधन से चलने वाले देश के पहले विमान की टेस्ट पायलट कामयाब हो गये है 11 बजे से देहरादून के जौलीग्रांट एयरपोर्ट पर 11 बजे उड़ाकर देखा गया जानकारी के अनुसार मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने झंडी दिखाकर स्पाइसजेट कंपनी के पहले विमान को दिल्ली के लिए रवाना किया इस मौके पर सीएम ने कहा कि बायोफ्यूल से फ्लाइट उड़ाने वाला भारत पहला विकासशील देश बन गया है.

इस सफल प्रयोग से भारत की अरब देशों पर तेल की निर्भरता कम हो सकेगी. इसके साथ ही कार्बन उत्सर्जन में 80 फीसद तक कमी लाई जा सकेगी. आईआईपी (औद्योगिक उत्पादन सूचकांक) के वैज्ञानिकों के द्वारा बायोफ्यूल से देश का पहला विमान तैयार किया गया. इस विमान ने सोमवार को देहरादून के जौलीग्रांट एयरपोर्ट से उड़ान भरी. इस दौरान सरकारी अधिकारियों सहित कई वैज्ञानिक मौजूद रहे. इसके साथ ही एयरपोर्ट के निदेशक विनोद शर्मा ने बताया कि स्पाइसजेट के इस विमान को सोमवार को रवाना किया गया.

स्पाइसजेट का यह विमान अमेरिका नीदरलैंड और ऑस्ट्रेलिया से विमानों की उड़ान कर चुका है. इस कड़ी में अब भारत भी शामिल हो गया है. बता दें कि अगर उड़ानों का सफल परीक्षण हो गया तो इससे हवाई यात्रा को सस्ता बनाने में सहायता मिलेगी. वहीं भारत की पहली जैव ईंधन उड़ान देहरादून से निकलकर दिल्ली के टर्मिनल 2 आईजीआई (इंदिरा गांधी इंटेल एयरपोर्ट) में उतरा है. इस विमान में 75 प्रतिशत विमानन टरबाइन ईंधन और 25 प्रतिशत जैव ईंधन का उपयोग किया जाता है. इस विमान के आगमन पर केंद्रीय मंत्री धर्मेंद्र प्रधान, नितिन गडकरी, सुरेश प्रभु और अन्य उपस्थित रहे.





See More

 
Top