देहरादून- उत्तरकाशी में 12 वर्षीय लड़की के साथ सामूहिक दुष्कर्म कर हत्या कर दी गई और शव को पास ही के पुल पर फेंक दिया गया. जिसकी सूचना से पूरे जनपद सहित कई जिलों में दहशत फैल गई. हर ओर से आरोपियों को पकड़ने और कड़ी से कड़ी सजा देने की मांग उठने लगी साथ ही लोगों ने पुलिस की कार्यप्रणाली पर सवाल खड़े किए. क्योंकि अभी तक पुलिस के हाथ खाली है. पुलिस ने सिर्फ कुछ संदिग्धों को पकड़ा है लेकिन अभी तक नतीजे तक नहीं पहुंच पाई.

वहीं सीएम त्रिवेंद्र रावत ने सोशल मीडिया के जरिए बताया कि दोषियों को कड़ी से कड़ी सजा दी जाएगी किसी को छोड़ा नहीं जाएगा. वहीं आज सरकार की ओर से कैबिनेट मंत्री यशपाल आर्य उत्तरकाशी पहुंचे और स्थानीय लोगों को कड़ी से कड़ी कार्रवाई करने का आश्वासन दिया.

बता दें कि शुक्रवार रात पारिवारिक सदस्यों के साथ बरामदे में सो रही किशोरी को अगवा कर सामूहिक दुष्कर्म के बाद गला घोंटकर हत्या कर दी गई। दरिंदे उसका शव घर से कुछ दूरी पर फेंक गए। पोस्टमार्टम रिपोर्ट में दुष्कर्म की पुष्टि हुई है। घटना का पता चलने के बाद शनिवार सुबह से ही उत्तरकाशी में जनाक्रोश भड़कने लगा था। हालात को भांप पुलिस ने कुछ लोगों को हिरासत में लेकर पूछताछ की, लेकिन सफलता नहीं मिली। हालांकि उत्तरकाशी के जिलाधिकारी डॉ. आशीष चौहान के समझाने पर लोग शांत हो गए, लेकिन रविवार सुबह जिले में विभिन्न स्थानों पर लोग सड़कों पर उतर आए और प्रदर्शन कर अफसरों का घिराव किया।





See More

 
Top