देहरादून : राज्यसभा सांसद अनिल बलूनी ने सदन में उत्तराखंड के लिए विशेष राहत पैकेज और एनडीआरएफ की स्थाई यूनिट स्थापित करने की मांग की है। उनका कहना है कि राज्य में लगातार हो रही बारिश, अतिवृष्टि, बादल फटने और भूस्खलन के कारण जनजीवन अस्त-व्यस्त है। कभी भी कोर्इ बड़ी घटना घट सकती है।

उत्तराखंड में इन दिनों बारिश ने कहर ढा रखा है। यहां बादल फटने की घटनाओं में बेतहाशा वृद्धि हुई है। जिसे सदन में रखते हुए सांसद बलूनी ने बताया कि इन प्राकृतिक आपदाओं के कारण राज्य में जान-माल का भारी नुकसान हो रहा है। बड़ी संख्या में भवनों, कृषि भूमि, मार्गों एवं मवेशियों का नुकसान हो रहा है। लोग जहां-तहां फंसे हुए हैं। अतिवृष्टि और बादल फटने के कारण विद्युत लाइनें, नहरें, गूल, पेयजल लाइनें, संचार लाइनें, संपर्क मार्ग ध्वस्त हैं।

उनका कहना है कि सरकार पूरी क्षमता से जनता को राहत पहुंचाने के कार्यों में लगी हुई है, लेकिन राज्य सरकार की संसाधन क्षमता सीमित है। ऐसी परिस्थितियों में उत्तराखंड भोगौलिक रूप से दुर्गम और प्राकृतिक रूप से संवेदनशील राज्य है। यहां कभी भी कोई बड़ी घटना घट सकती है। सांसद बलूनी ने कहा कि उत्तराखंड में एनडीआरएफ की स्थायी यूनिट की स्थापना आवश्यक है ताकि आपदा की घड़ी में संकट में फंसे नागरिकों को समय पर सहायता मिल सके।





See More

 
Top