हरिद्वार- सावन के पावन महीने में उत्तराखंड पुलिस देवभूमि आ रहे कावड़ियों की सुरक्षा पर तैनात है। उत्तराखंड पुलिस के कर्मी हर तरह से कांवड़ियों को सहयोग दे रहे हैं. उत्तराखंड पुलिस ने जहां एक ओर नदीं में डूब रहे कई कांवडि़यों की जान बचाकर उनके लिए देवदूत बनी तो वहीं कई बिछड़े लोगों को उनके परिवार से मिलाकर अपना कर्तव्य निभाया. जिनकी हर कोई वाह-वाही कर रहा है. उन्हे हर प्रकार सहयोग उत्तराखण्ड की पुलिस  किया जा रहा है, जिससे उत्तराखण्ड आ रहे शिवभक्तों के साथ देवभूमि का अनूठा रिश्ता बन रहा है।

कांवड़ यात्रा के दौरान अपने परिजनों से बिछड़े व्यक्तियों को उनके परिजनों से मिलाने के लिए उत्तराखण्ड पुलिस ने जनपद हरिद्वार के नगर नियंत्रण कक्ष (सीसीआर) में खोया-पाया केन्द्र बनाया है। खोया-पाया केन्द्र ने दिनांक 27 जुलाई से 05 अगस्त तक अपने परिवार से बिछड़े 690 लोगों को उनके परिवार से मिलाया है। साथ ही SDRF एवं जल पुलिस के जवानों ने कुल 56 लोगों को गंगा में डूबने से बचाया है। उत्तराखण्ड पुलिस के इस कार्य को कांवड़ियों द्वारा भी सराहा जा रहा है।




See More

 
Top