हरिद्वार के मंगलौर में खोले जा रहे स्लॉटर हाउस के विरोध के बीच मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने इस स्लॉटर हाउस को बंद करने के निर्देश दे दिए हैं…मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत का कहना कि देव भूमि में इस तरह स्लॉटर हाउस खोले जाने से राज्य की छवि धूमिल हुई है…इसलिए जैसे ही मीडिया के जरिए उनतक ये जानकारी पहुंची उन्होने सीधे हरिद्धार के जिलाअधिकारी को फोन कर इस बंद करने के निर्देश दे दिए हैं..

भाजपा विधायकों यतीश्वरानंद और संजय गुप्ता भी स्लॉटर हाउस खोले जाने का विरोध जता चुके हैं

साथ ही स्लाॉटर हाऊस को लेकर सीएम ने पूर्ववर्ती कांग्रेस सरकार पर भी इशारों ही इशारों में हमला बोलते कहा कि 2016 में इस स्लॉटर हाउस खोलने के लिए लाइसेंस दिया गया था। आपको बता दें भाजपा विधायकों यतीश्वरानंद और संजय गुप्ता भी स्लॉटर हाउस खोले जाने का विरोध जता चुके हैं.

2016 में हरीश रावत सरकार के समय दी गई थई स्लॉटर हाउस खोलने की मंजूरी 

दरअसल साल  2016 में हरीश रावत सरकार के समय स्लॉटर हाउस खोलने की मंजूरी दी गर्इ थी। जिसका लगातार विरोध किया जाने लगा। मंगलौर में स्लॉटर हाउस खोले जाने के विरोध में भाजपा कार्यकर्ताओं ने पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत का पुतला भी जलाया।

भाजपा कार्यकर्ताओं ने किया पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत के खिलाफ विरोध प्रदर्शन

नारसन कस्बे में शुक्रवार को भाजपा कार्यकर्ताओं ने पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत के खिलाफ विरोध प्रदर्शन किया। इस दौरान भाजपा नेता संजय धारीवाल ने कहा कि पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत ने मंगलौर के पास में स्लॉटर हाउस को खोलने की अनुमति दी थी। जिसे भाजपा कार्यकर्ता बनने नहीं देंगे। उन्होंने कहा कि वे प्रदेश सरकार से इसकी अनुमति रद्द करने की मांग करेंगे।

उन्होंने ये भी कहा कि उत्तराखंड के हरिद्वार जिले के अंद पशु वध नहीं होने दिया जाएगा। चाहे इसके लिए क्षेत्रीय लोगों को सड़कों पर उतर कर इसका विरोध ही क्यों ना करना पड़े। साथ ही अनिश्चितकालीन धरना प्रदर्शन करने की बात भी कही है।





See More

 
Top