रुड़की : जहाँ एक ओर केंद्र व राज्य सरकार जनता से अच्छी स्वास्थ्य सुविधा देने के वादे करती है तो वहीं दूसरी ओर इन वादों को कुछ फर्जी लोग सरकार को ठेंगा दिखाने में लगे हैं. हम बात कर रहे हैं रुड़की शहर की जहाँ पर बिना डिग्री के डॉक्टरों की तादाद बढ़ती जा रही है. जिनमे कई दर्जन नर्सिंग होम के नाम पर स्थानीय जनता के साथ आसपास के ग्रामीण क्षेत्रों के लोगों को भी खुलेआम लूटा जा रहा है. इनके पास ना ही तो नर्सिंग होम चलाने का लाइसेंस है और न ही डॉक्टर की डिग्री और संबंधित रजिस्ट्रेशन भी मौजूद नहीं है..

रुड़की का गांव रामपुर हो ,पुरानी तहसील या रेलवे रोड हो सभी जगह डॉक्टरों द्वारा खोले गए फ़र्ज़ी नर्सिंग होम साफतौर पर देखने को मिल जाएंगे. कुछ फ़र्ज़ी डॉक्टरों से अगर इस बाबत हमने कैमरे के सामने जानना चाहा तो उन्होंने कहा कि ऐसा हम ही नहीं कर रहे बल्कि बहुत से लोग ऐसा कर रहे हैं. इनकी बातों से साफ जाहिर होता है कि  इनका कहना है कि एक ऐसा कर रहा है तो दूसरा भी ऐसा ही क्यों न करें.

वहीं दूसरे चिकित्सक से पूछा गया कि आप के पास कौन सी डिग्री है तो उनका कहना है कि हमारा मामले में अभी हाईकोर्ट ने स्टे दिया हुआ है यानि स्टे की बेस पर मरीजों का ईलाज किया जा रहा है.

वहीं इस मामले में जनपद के सीएमओ एच. डी. शाक्या ने बताया कि मीडिया द्वारा उनके संज्ञान में मामला आया है और एक टीम गठित कर फ़र्ज़ी डॉक्टरों पर कार्यवाही की जाएगी किसी भी हालत में ऐसे फ़र्ज़ी नर्सिंग होम चलाने वालों और चिकित्सा करने वाले फ़र्ज़ी नीम हकीमों को बक्शा नहीं जाएगा.





See More

 
Top