देहरादून-भागीरथी और भिलंगना नदियों के जलागम क्षेत्र में बारिश के चलते टिहरी बांध झील के जलस्तर में चार मीटर का इजाफा हुआ है। बांध की झील का जलस्तर 794 मीटर से बढ़कर सप्ताहभर में 798.65 मीटर पहुंच गया है।  देश के सबसे ऊंचे टिहरी बांध की झील के जलस्तर में बारिश के चलते धीरे-धीरे बढ़ोतरी होती जा रही है। मई माह में बांध की झील का जलस्तर 760 मीटर था। 15 जून से शुरू मानसून के शुरुआती दौर में बारिश की कमी के चलते झील के जलस्तर में धीमी गति से बढ़ोतरी हुई। लेकिन अब जैसे-जैसे मानसून परवान चढ़ रहा है।

भागीरथी और भिलंगना नदियों के जलागम क्षेत्र में सामान्य बारिश हो रही है। जिससे टिहरी बांध के जलस्तर में भी इजाफा हो रहा है। 1 अगस्त को टिहरी बांध का जलस्तर 794 मीटर था। मौसम विभाग के पूर्वानुमान अनुसार हो रही अच्छी बारिश के चलते सप्ताहभर 4 मीटर के इजाफे के साथ बांध की झील का जलस्तर 798 मीटर पहुंच गया है। वर्तमान समय में बांध से 301 क्यूमेक्स पानी छोड़ा जा रहा है। टीएचडीसी टिहरी बांध में 20 मीटर का स्टोरेज रिर्जव रखता है। इस हिसाब से अभी बांध में 27 मीटर का स्टोरेज बाकी है। इसी तरह बारिश होती रही तो टिहरी बांध के जलस्तर में और अधिक वृद्धि होगी। जिससे टिहरी बांध से विद्युत उप्तादन में वृद्धि होगी।





See More

 
Top