प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी यहां अक्टूबर के प्रथम सप्ताह में होने वाले उत्तराखंड निवेशक सम्मेलन ‘डेस्टिनेशन उत्तराखण्ड: इन्वेस्टर्स समिट 2018' का उद्घाटन करेंगे। मुख्य कार्यक्रम का आयोजन देहरादून के महाराणा प्रताप स्पोर्ट्स स्टेडियम में किया जाएगा। सम्मेलन चार तथा पांच अक्टूबर में सकता है। 

रूस के राष्ट्रपति के संभावित दौरे की तिथियों को देखते हुये ही निवेशक सम्मेलन की तिथि को अंतिम रूप दिया जायेगा। मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने यह जानकारी दी। उन्होंने आज इस निवेशक सम्मेलन के लिये प्रतीक चिन्ह्र और वेबसाईट जारी करने के मौके पर यह जानकारी दी। 

 

इस मौके पर मुख्यमंत्री ने कहा कि 'डेस्टीनेशन उत्तराखण्ड' अंतरराष्ट्रीय व घरेलू निवेशकों को उत्तराखण्ड में निवेश के लिए प्लेटफार्म उपलब्ध कराएगा। इसमें दुनियाभर से निवेशक, निर्माता, उत्पादक, नीति निर्माता व औद्योगिक संगठन हिस्सा लेंगे। राज्य में निवेश से विभिन्न क्षेत्रो में स्थानीय युवाओं को बड़ी संख्या में रोजगार मिलेगा। इससे राज्य के उद्यमियों को भी अवसर मिलेंगे।

 

रावत ने कहा कि राज्य में बाहर से आने वाले निवेशकों के साथ स्थानीय उद्यमियों का गठबंधन कराया जाना चाहिए जिससे दोनों ही लाभान्वित होंगे। उन्होंने आशा व्यक्त की कि राज्य के युवा उद्यमी भी आगे आएंगे और प्रदेश में नवोन्मेष व उद्यमशीलता को बढ़ावा मिलेगा। 

 

मुख्यमंत्री ने कहा कि सरकार राज्य में निवेश अनुकूल माहौल बनाने के लिए लगातार प्रयासरत है और कारोबार सुगमता में हिमालयी राज्यों में उत्तराखंड पहले स्थान पर हैं। उन्होंने कहा कि हमारे यहां सिंगल विंडो सिस्टम प्रभावी रूप से संचालित है, कानून व्यवस्था और बिजली की स्थिति भी काफी बेहतर है तथा प्रशिक्षित श्रम की उपलब्धता अधिक है। 

 

मुख्यमंत्री ने कहा कि जिस प्रकार देहरादून में प्रधानमंत्री की उपस्थिति से अंतरराष्ट्रीय योग महोत्सव का आयोजन सफलता पूर्वक हुआ और यहां से देश विदेश में योग का संदेश गया उसी प्रकार, निवेशक सम्मेलन भी प्रधानमंत्री के सान्न्ध्यि में सफलतापूर्वक आयोजित होगा। 

 

ये भी पढ़ेंः ED ने कोर्ट से कहाः उपेन्द्र राय ने उगाही के माध्यम से जुटाई गई संपत्तियों को वैध दिखाया

 

उन्होंने कहा कि यहां चिन्हित 12 क्षेत्रों में लक्ष्य के अनुरूप निवेश होगा और आने वाले समय में उत्तराखण्ड निवेशकों के लिए पसंदीदा गंतव्य बन कर उभरेगा। आयुक्त उद्योग, सौजन्या ने बताया कि निवेशकों को आकर्षित करने के लिए 12 मुख्य क्षेत्रो को चिन्हित किया गया है जिनमें खाद्य प्रसंस्करण, बागवानी, जड़ी बूटी व सुगंधित उत्पाद, पर्यटन, स्वास्थ्य देखभाल एवं आयुष, औषधि, आटोमोबाइल, रेशम पालन एवं प्राकृतिक फाइबर, आईटी, नवीकरणीय ऊर्जा, जैव प्रोद्यौगिकी व फिल्म शूटिंग शामिल हैं। 

 

उन्होंने बताया कि इन्वेस्टर्स समिट से पूर्व निवेशकों को आकर्षित करने के लिए अनेक मिनी कान्क्लेव व रोड़ शो आयोजित किए जाएंगे। तीस अगस्त को नई दिल्ली में विभिन्न देशों के राजदूतों के साथ राउन्ड टेबिल वार्ता की जाएगी।

 

मुख्यमंत्री द्वारा लांच किया गया ‘डेस्टिनेशन उत्तराखण्ड: इन्वेस्टर्स समिट 2018' का बांड चिन्ह्र फूलों की घाटी से प्रेरित है जिसमें उगते सूरज का चित्रण किया गया है जो उत्तराखण्ड में उभरते अवसरों व ओद्यौगिक विकास को दर्शाता है। समिट के लिए चिन्हित किए गए 12 क्षेत्रों को इसमें फूलों की 12 रंगबिरंगी पत्तियों के रूप में दर्शाया गया है। 





See More

 
Top