देहरादून- एक ओऱ जहां पूरे राज्य में बारिश से हाहाकार मचा हुआ है वहीं राजनीति के क्षेत्र में मलिन बस्ती और अध्यादेश को लेकर जंग छिड़ी हुई है. वहीं भाजपा के प्रदेश मीडिया प्रभारी डॉ. देवेंद्र भसीन ने मलिन बस्तियों के मुद्दे पर कांग्रेस के आंदोलन को ग़रीब विरोधी बताते हुए कहा कि जहाँ अतिवृष्टि से उत्पन्न गम्भीर से निपटने के लिए प्रदेश के मुख्यमंत्री ,भाजपा जन प्रतिनिधि व संगठन जनता के बीच जा करव जगह जगह का दौरा कर रहे हैं वहीं कांग्रेस नेता पुतले जलाने में व्यस्त हैं।

कांग्रेस को जनता की समस्याओं की कोई चिंता नहीं है

भाजपा प्रदेश मीडिया प्रभारी डॉ देवेंद्र भसीन ने कहा कि प्रदेश में अतिवृष्टि के कारण हालत गम्भीर हैं और इन हालात में प्रदेश के मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत, मंत्री ,विधायक व भाजपा संगठन के पदाधिकारी व कार्यकर्ता जनता के बीच उनकी समस्याओं के निदान व सहायता के लिए दौरे कर रहे हैं. लेकिन दूसरी ओर कांग्रेस को जनता की समस्याओं की कोई चिंता नहीं है ।इस पर सबसे गम्भीर बात यह है कि इन गम्भीर परिस्थितियों में भी कांग्रेस मलिन बस्तियों के मामले पर सरकार द्वारा लाए गए अध्यादेश का विरोध कर रही है और स्थान स्थान पर पुतला दहन व आंदोलन कर सरकार के काम में रुकावट डाल रही है. इससे साफ़ है की कांग्रेस ग़रीब विरोधी है.

ग़रीब का ग़रीब विरोधी चेहरा फिर सबके सामने गया है

उन्होंने कहा कि अतिवृष्टि को देखते हुए मुख्यमंत्री रावत ने आज भाजपा द्वारा आयोजित आभार रैली को स्थगित करने के निर्देश दिए और विधायकों कार्यकर्ताओं से अपने अपने क्षेत्रों में जनता के बीच रहते हुए सहयोग करने के लिए कहा। दूसरी ओर कांग्रेस नेता विरोध करने के साथ प्रदर्शन कर रहे हैं. इससे ग़रीब का ग़रीब विरोधी चेहरा फिर सबके सामने गया है.

उन्होंने कहा कि भाजपा सरकार द्वारा लाए गए अध्यादेश से चालीस से पचास हज़ार लोंगो को लाभ होगा. जबकि कांग्रेस 2016 के अपने जिस अध्यादेश का ज़िक्र कर रही है उसका फ़ायदा केवल 36 परिवारों को मिलना था. यदि कांग्रेस ग़रीब की हितैषी होती तो उसे प्रदेश सरकार के साथ सहयोग करना चाहिये था. लेकिन इसके विपरीत कांग्रेस राहत कार्य में बाधा डाल रही है।

डॉ भसीन ने कहा केंद्र में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी व प्रदेश में मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत के नेतृत्व में भाजपा सरकारें वर्ष 2022 प्रत्येक प्रत्येक ग़रीब को मकान देने की योजना पर काम कर रहे हैं। जबकि कांग्रेस बाधा डालो की राजनीति में जुटी है।





See More

 
Top