रुद्रपुर : चुनावी दौर में या कार्यक्रमों में बेहतर शिक्षा और हमेशा सब पढ़ें-सब बढ़ें की बात करने वाली सरकार को शायद राज्य के स्कूलों के हालातों के बारे में नहीं पता. शायद पता चले तो बड़े-बड़े दावे करने से पहले 100 बार सोचे. मंत्रियों-विधायकों को तो पता ही नहीं होगा की उनके क्षेत्र में कौन-कौन से आते स्कूल हैं और उनकी हालत क्या है. बस्ता-किताब तो दूर उनके पास सरकारी स्कूल में बैठने के लिए कमरे ही नहीं है. इन बच्चों को महंगी-महंगी कारें और एसी रुम नहीं बल्की नीचे बैठने के लिए दरी औऱ शिक्षकों की जरुरत है.

शिक्षा मंत्री अरविंद पांडेय के विधानसभी क्षेत्र में स्कूल के हाताल

राज्य सरकार विद्यालयों में पेयजल, जलापूर्ति व शौचालयों की व्यवस्था प्राथमिकता की बात करती है. विद्यालयों के नए बनने वाले भवनों में रेन वाटर हॉर्वेस्टिंग सिस्टम अनिवार्य रूप से लगाया जाने की लाख दावे करती है लेकिन ये तस्वीरें देखकर पोल खुलती दिखी. और तब ज्यादा होती है जब ये क्षेत्र शिक्षा मंत्री अरविंद पांडे की विधानसभा में आता हो.

ऐसे कैसे पढ़ेगा और बढ़ेगा इंडिया

जी हां क्योंकि बरसात के कारण पूरा स्कूल जल मग्न हो गया है जिसकी कानों-कान खबर किसी को नहीं औऱ न उसकी सुध लेने वाला कोई है. जी हां उधमसिंह नगर जिले के गदरपुर में राजकीय पूर्व माध्यमिक स्कूल जलमग्न होकर तालाब में तब्दील हो गया है. स्कूल के प्रवेश द्वार से कक्षा तक पूरी तरह पानी से लबालब भर गया है. ऐसा लग रहा है कि कक्षा तक पहुंचने के लिए शिक्षकों और छात्रों को तैरकर जाना पड़ेगा. ऐसे में सोचा जा सकता है की कैसे राज्य की शिक्षा बेहतर होगी औऱ कैसे पढ़ेगा औऱ बढ़ेगा इंडिया.

धम सिंह नगर जिले के गदरपुर स्थित रतनपुर के राजकीय पूर्व माध्यमिक स्कूल बना तालाब

उधम सिंह नगर जिले के गदरपुर स्थित रतनपुर के राजकीय पूर्व माध्यमिक स्कूल में बीती रात से लगातार हो रही बारिश के कारण जल भराव हो गया है. यहां नदियों, नहरों और सड़कों से पानी आकर ठहर गया है. जिससे छात्र छात्राओं के साथ शिक्षकों को भी आने-जाने में परेशानी का सामना करना पड़ रहा है. और तो और स्कूल के हालत ये है कि स्कूल का लिंटर कई जगह से चटक गया है औऱ दिवारें चू रही है.

अभिभावकों को भी अपने बच्चों को स्कूल तक छोड़ने और ले जाने में काफी समस्याओं का सामना करना पड़ रहा है.  शिक्षिकाएं व बच्चे घुटनों तक पानी में फंस गए है. क्षेत्र में बहने वाली नदी, नहरों व नालों के उफान में आने से न केवल स्कूल का बल्कि पूरे शहर का जनजीवन अस्त व्यस्त हो गया है क्षेत्र के कई स्कूलों में जल भराव की स्तिथि बनी हुई है. राजकीय पूर्व माध्यमिक स्कूल के बाहर से पानी भरने के बाद स्कूल में छुट्टी कर दी गई है.

वहीं गदरपुर के वार्ड नं9 में जलभराव के बाद मौके पर पहुंचे तहसीलदार व सभासद ने जलनिकासी की व्यवस्था की बात कही और साथ ही सभासद बिल्लन चौधरी ने बाढ़ नियंत्रण के नाम पर सरकार को पूरी तरह फेल बताया.

 





See More

 
Top