देहरादून(मनीष डंगवाल) : उत्तराखंड के बेरोजगार युवाओं के लिए अच्छी खबर है…खासकर पहाड़ के उन युवाओं के लिए अच्छी खबर है जो विसम भौगोलिक परिस्थियों के चलते नौकरी पाने के लिए आॅनलाईन आवेदन करने में पीछे रह जाते हैं या तकनीकि खामी के चलते नौकरी पाने के लिए आॅनलाईन आवेदन नहीं कर पाते हैं। जी हां अब उत्तराखंड के युवाओं को सेवा अधिनस्थ चयन आयोग के द्धारा जारी होने वाली सरकारी नौकरियों की भर्ती के आवेदन के लिए बार-बार ऑनलाइन आवेदन करने के लिए पूरी जानकारियों नहीं भरनी होंगी।

वन टाइम रजिस्ट्रेशन से राह आसान

सेवाअधिनस्थ चयन आयोग ने फैसला किया है कि अब आयोग जो भी विज्ञप्ति जारी करेगा,उसमें आवेदन करने वाले युवाओं को बार-बार आवदेन मांगे जाने पर पूरी जानकारी नहीं भरनी होग…बल्कि एक बार ही आयोग वन टाइम रजिस्ट्रेशन के तहत रिकॉर्ड अपने पास रखलेगा,जिसके बाद दूसरी बार नई विज्ञप्ति आने के बाद युवाओं को केवल नई विज्ञप्ति से सम्बंधित जानकारी भरने होगी…यानी आॅनलाईन आवेदन करने पर युवाओं को दूसरी बार आवदेन करने पर फोटो स्कैन, हस्ताक्षर स्कैन नहीं करना पड़ेगा…साथ ही अन्य जो जानकारियां सभी फाॅर्म में एक जैसी भरनी होती है उन्हे भरने से भी छुटकारा मिल जाएगा। यानी 90 प्रतिशत जानकारियों दूसरी बार आवेदन करेन में युवाओं को नहीं भरनी होगी।

पहाड़ के युवाओं के लिए उपहार है वन टाइम रजिस्ट्रेशन

सेवा अधिनस्थ चयन आयोग के सचिव संतोष बड़ोनी का कहना कि आॅनलाइन आवेदन मांगे जाने के बाद देखने में आया है कि मैदानी जिलों को छोड़कर पहाड़ी जिलों से युवाओं के आवेदन में भारी कमी आयोग कि भर्तीयों में आ रही है,इसकी प्रमुख वजह यहीं है कि पहाड़ी जिलों में नेटवर्किेग के बड़ी समस्या आती है,जिस वजह से बार आवदेन करने पर युवाओं को आवेदन करने में कई दिन लग जाते है, साथ ही नेटवर्किंग न होने की वजह से कई युवा आवेदन भी नही कर पाते हैं.

एक बार आवेदन करने के बाद दूसरी बार आवेदन करने में युवाओं को ज्यादा दिक्कत नहीं आएगी

पहाड़ के युवाओं के समस्या को देखते हुए आयोग ने निर्णय लिया है कि वन टाइम रजिस्ट्रेशन की प्रणाली को अपनाया जाएगा ताकि युवाओं को फाॅर्म भरने में ज्यादा दिक्क्तों का समना न करना पड़े…एक बार आवेदन करने के बाद दूसरी बार आवेदन करने में युवाओं को ज्यादा दिक्कत नहीं आएगी क्योंकि आयोग ने भारत सरकार की ई-गवर्नेस सर्विस के तहत इंण्डिया लिमिटेड के साथ इस संबध में करार करने जा रही है, जिसके बाद ई-गवर्नेस सर्विस के पास पूरा डाटा आवेदन करने वाले युवाओं का रहेगा…एजेंसी के माध्यम से युवाओं का एक एकाउंट बन जाएगा और वह उस एकाउंट के जरिए आवेदन आसानी से कर सकेंगे। साथ ही प्रदेश में जहां पर भी जन सुविधा केेंद्र बनाए गए है,उनसे आवेदन किया जा सकेगा, जिससे आवेदन करना और आसाना हो जाएगा। आयोग जो भी आवदेन अब निकालेगा उससे ये प्रक्रिया शुरू हो जाएगी। इस प्रक्रिया से पहाड़ के युवाओं को ज्यादा फायदा होगा,क्योंकि वह बार-बार आवेदन कर नहीं पाते हैं वह आसानी से आवेदन कर सकेंगे।





See More

 
Top