• NH घोटाले को संरक्षण देने वाले भी होंगे सलाखों के पीछे
  • एनएच घोटाले में निलंबित आईएएस को जल्द मिलेगी चार्जशीट
  • आरोप पत्र पर शुरू हो गया काम

देहरादून : मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र रावत ने कहा कि एनएच मुआवजा घोटाले को संरक्षण देने वालों के खिलाफ भी कार्रवाई की जाएगी। यह घोटाला कांग्रेस सरकार के दौरान हुआ है। जिनके संरक्षण में यह घेाटाला हुआ है उन्हें भी सलाखों के पीछे पहुंचाया जाएगा। भाजपा प्रदेश कार्यालय में गुरुवार को त्रिवेंद्र ने कहा कि राजनैतिक लोग और एनएचएआई भी जांच से बाहर नहीं हैं। जरूरत पड़ी तो दूसरी एजेंसियों से भी इस घोटाले की जांच कराई जाएगी। मुख्यमंत्री ने कहा कि विपक्ष इस मामले में राजनीति करने का प्रयास कर रहा है।  सरकार का रुख साफ है कि घोटाले के हर एक दोषी को पकड़ा जाएगा।  किसी को जबरदस्ती फंसाया नहीं जाएगा।  नीती घाटी में बनी झील पर सीएम ने कहा कि  ऐसी झीलें हिमालय पर बनती रहती हैं और कुछ समय बाद खुद खत्म हो जाती हैं।

  • घुसपैठियों पर होगी कार्रवाई 

हरिद्वार में कुछ संदिग्ध लोगों के प्रवेश के पर सीएम ने कहा कि घुसपैठिए एवं संदिग्ध लोगों को राज्य में घुसने नहीं दिया जाएगा। उन्होंने लोगों से अपील की कि उनके आसपास कोई संदिग्ध दिखाई देता है तो उसकी सूचना सीएम एप या किसी दूसरे माध्यम से सरकार तक पहुंचाएं। इस पर तत्काल कार्रवाई होगी। 

वहीं उन्होंने  घुसपैठ की सूचना नहीं: मुख्यमंत्री ने कहा कि चीन बार्डर पर घुसपैठ की खबरें उन्हें मीडिया के जरिए ही मिली हैं। लेकिन आधिकारिक रूप से ऐसी कोई सूचना अभी तक राज्य सरकार को नहीं मिली है। यह विषय केंद्र सरकार का है।

  • निलंबित आईएएस अफसर एसीएस ओमप्रकाश से मिले 

एनएच मुआवजा घोटाले में निलंबित आईएएस अफसर डॉ. पंकज कुमार पांडेय और चंद्रेश कुमार यादव को जल्द चार्जशीट दी जाएगी। एसआईटी की जांच रिपेार्ट के आधार पर आरोप तय करने शुरू कर दिए। जांच अधिकारी की नियुक्ति चार्जशीट के बाद की जाएगी। मुख्यसचिव उत्पल कुमार सिंह ने बताया कि आरोप पत्र पर काम शुरू हो गया है। सरकार ने एसआईटी जांच के आधार पर 11 सितंबर को दोनों को सस्पेंड कर दिया है। अब उनके खिलाफ आरोप पत्र पर उच्च स्तर पर होमवर्क शुरू हो गया है। बुधवार को अधिकारियों ने मुआवजे से जुड़े मामलों की समीक्षा की और उनके आधार पर आरोप पत्र का आधार तैयार किया। दूसरी तरफ, दोनों अफसरों के विभागों में अधिकारियों की तैनाती की कसरत शुरू हो गई है ।

  • कार्मिक विभाग से अटैच हुए निलंबित आईएएस अफसर

निलंबन के बाद आईएएस डॉ. पंकज कुमार पांडे और चंद्रेश कुमार यादव कार्मिक विभाग से अटैच हो चुके हैं। गुरुवार को दोनों अधिकारियों ने अपर मुख्य सचिव ओमप्रकाश से मुलाकात की। कुछ और अफसर भी ओमप्रकाश से उनके कार्यालय में मिले।

  • कांग्रेस का एनएच मुआवजा घोटाले की जांच को भटकाने का आरोप

एनएचएआई को एसआईटी जांच से हटाना साजिश कांग्रेस के प्रदेश उपाध्यक्ष सूर्यकांत धस्माना ने सरकार पर एनएच मुआवजा घोटाले की जांच को भटकाने का आरोप लगाया। राजीव भवन में धस्माना ने कहा कि इस घोटाले के तार राष्ट्रीय स्तर तक फैले हुए हैं। पहले सरकार ने घोषणा करने के बावजूद इस मामले की सीबीआई जांच नहीं करवाई। इसके बाद एक केंद्रीय मंत्री ने एनएचएआई के अफसरों को जांच के दायरे से हटाने के लिए दबाव बनाया। अब एक बार फिर से एनएचएआई ने एसआईटी जांच से इनकार कर दिया है। उल्लेखनीय है कि एनएचएआई निदेशक ने राज्य सरकार को पत्र भेजकर एनएचएआई को जांच से अलग रखने को कहा है। उनका कहना है कि एनएचएआई केवल फंडिंग एजेंसी है।

The post NH घोटाले में लिप्त राजनीतिज्ञ और एनएचएआई जांच से नहीं बाहर:CM appeared first on Dev Bhoomi Media.





See More

 
Top