देहरादून में शहर के बीचोंबीच लगने वाला संडे मार्केट पिछले 4 महीनों से नहींं लग पा रहा है, जिससे संडे मार्केट में दुकान लगाने वाले दुकानदार काफी परेशान हैं…वहीं नगर निगम के खजाने पर भी इसका असर पड़ रहा है, लेकिल फिर भी नगर निगम को न तो अपने खजाने पर पड़ने वाले असर की चिंता है और न ही दुकानदारों के परिवारों की।

संडे मार्केट ठप, रोजी-रोटी के लिए भटक रहे 270 लोग आज 

हाईकोर्ट के द्धारा देहरादून में अतिक्रमण हटाओं अभियान का खामियाजा जहां कई लोगों को, कई नताओें को और यहां तक कि शासन के अधिकारियों को भी भुगतना पड़ा…वहीं देहरादून में लगने वाले संडे मार्केट पर इसका बुरा असर पड़ा है…मार्केट पर पड़े बुरे असर से संडे मार्केट में फड़ लगाने वाले लोगों के सामने अब रोजी रोटी का संकट मंडराने लगा है…जी हां संडे मार्केट मे फड़ लगाने से अपने परिवार का भरन पोषण करने वाले 270 लोग आज रोजी रोटी के लिए भटक रहे हैं…नेताओं और अधिकारियों के चक्कर लगाने को मजबूर हैं ताकि शहर में कई भी संडे मार्केट लगाने की अनुमति मिल जाए उनकी दो वक्त की रोटी का इंतजाम हो जाएं।

संडे मार्केट बंद होने से करीब 2500 लोगों का रोजगार प्रभावित हुए

संडे मार्केट में दुकान लगाने वाले दुकानदारों को कहना कि संडे मार्केट बंद होने से करीब 2500 लोगों का रोजगार प्रभावित हुआ है। इतना ही नहीं संडे मार्केट के लिए जगह न मिलने को लेकर दुकानदार कोर्ट भी गए, जिसमें कोर्ट ने दो माह पूर्व नगर निगम को अस्थाई रूप से जमीन मार्केट लगाने को लेकर फैसला सुनाया, लेकिन नगर निगम सोया हुआ है. जिसे न तो कोर्ट के आदेश की चिंता है और न ही अपनी आय की…क्योंकि संडे मार्केेट लगने से निगम की आय को भी हर माह नुकसान हो रहा है।

संडे मार्केट में दुकान लगाने के लिए 300 रूपये निगम को अदा करते हैं फड़वाले

दरअसल 270 फड़ लगाने लाईसेंस निगम के द्धारा दिए गए हैं जो एक दिन संडे मार्केट में दुकान लगाने के लिए 300 रूपये निगम को अदा करते हैं…मोटे तौर से पर एक महीने में से राशि निगम की आय में सवा तीन लाख रूपये से उपर बैठती है…4 महीने से मार्केट न लगने से निगम को अब तक बरीब 12 लाख का नुकसान हो गया है। फिर भी निगम मार्केट लगाने में दिलचस्पी नहीं ले रहा है। संडै मार्केट के प्रधान मरगूब अली का कहना कि उन्होंने हर जगह से प्रयास मार्केट लगाने को लेकर कर दिया है लेकिन अभी तक कोई सुनवाई नहीं हुई…अगर जल्द मार्केट न लगा तो उनके परिवार को पालन मुश्किल हो जाएगा.

नगर निगम और प्रशासन की नाकामी

बेशक अतिक्रमण के आदेश के बाद देहरादून में संडे मार्केट लगना बंद हुआ हो लेकिन इसे नगर निगम और प्रशासन की ही नाकामी कहा जाएगा कि 4 महीने बाद भी संडे मार्केट लगाए जाने को लेकर जमीन तलाशी नहीं गई है। हांलाकि देहरादून नगर निगम के आयुक्त का कहना कि जल्द ही मार्केट लगाए जाने को लेकर जगह चिन्हित कर ली जाएगी।

संडे के दिन बिगड़ी-बिगड़ी रौनक 

संडे मार्केट न लगने से जहां इन दिनों देहरादून की रौनक संडे के दिन बिगड़ी-बिगड़ी सी नजर आ रही है…वहीं जो लोग दूर दराज के क्षेत्रों से संडे मार्केट खरीददारी के लिए पहुंच रहे हैं उन्हे मायूसी के अलावा कुछ हाथ नहीं लग रहा…नुकसान दुकानदार, नगर निगम और खरीददारों को सीधे रूप से हो रहा है…लेकिन फिर भी मार्केट लगाए जाने को लेकर जो प्रयास नगर निगम और प्रशासन के द्धारा किए जाने थे, उनमें कुछ खास असर नहीं दिख रहा है।





See More

 
Top