देहरादून : देश को आजादी दिलाने में महात्मा गांधी का अहम योगदान है. इसलिए आज पूरे देश औऱ दुनिया में श्रद्धांजलि दी जा रही है और कई भव्य कार्यक्रम आयोजित किए जा रहे हैं. 2 अक्टूबर के दिन गांधी जयंती के अवसर पर हर साल देशभर में गांधी जी को याद किया जाता है लेकिन इस बार की गांधी जयंती कई मायनों में खास है. केंद्र सरकार जहां 2 अक्टूबर को लेकर बड़े कार्यक्रम करवाने जा रही है तो वहीं इस बार गांधी जयंती कुछ लोगों को खुले में धूमने औऱ अपने घर लौटने का कारण बनने जा रहे हैं।

देश के अलग-अलग राज्यों की जेलों में बंद कैदियों को किया रिहा

जी हां केंद्र सरकार के आदेश पर देश के अलग-अलग राज्यों की जेलों में बंद कैदियों को इस बार रिहा किया गया है. जो अपनी सजा दो तिहाई से ज्यादा काट चुके हैं उनको उनके आचरण व्यवहार को देखते हुए इस बार रिहा किया जा रहा है. उत्तराखंड में भी ऐसे 8 कैदी जो गांधी जयंती के अवसर पर रिहा होंगे. इसके लिए शासन ने मुख्यमंत्री और राज्यपाल की अनुमति लेने के बाद शासन आदेश भी जारी कर दिया है।

शासन ने 27 कैदियों के नामों को भेजा था

गृह सचिव आनंद वर्धन की मानें तो केंद्र सरकार से गाइडलाइन जारी हुई है. 2 अक्टूबर के मौके पर उन सभी कैदियों की लिस्ट बनाई जाएगी। जिनका आचरण जेल के अंदर अच्छा है और वह अपनी दो तिहाई सजा काट चुके हैं. राज्य सरकार ने इसमें भी केटेगरी रखी थी कि जिनकी हालांकि शासन ने 27 कैदियों के नामों को भेजा था। लेकिन सरकार की तरफ से मात्र 8 कैदियों को छोड़ने की ही संस्तुति शासन को प्राप्त हुई है।

जिन कैदियों को छोड़ा जा रहा है उनके नाम

गुड्डू चौहान — देहरादून

कुलदीप — विकास नगर देहरादून

संजय — ऋषिकेश

हसमुल्ला — देहरादून

सोनू — ऋषिकेश

शालू — ऋषिकेश

मोंटी — हरिद्धार

गोविन्द सिंह — रुद्रप्रयाग





See More

 
Top