• हंस कल्चर सेंटर दिल्ली द्वारा नि:शुल्क स्वास्थ्य जांच शिविर  
  • किन्नौर जिले के सांगला और रिकांगपिओ में पहुंचे हजारों लोग
  • देश के प्रथम मतदाता मास्टर श्याम सरन नेगी ने व्यक्त किए विचार 
देवभूमि मीडिया ब्यूरो 
हंस कल्चर सेंटर’ एवं ‘हंस फाउंडेशन’ के प्रेरणास्रोत माताश्री मंगलाजी एवं श्रीभोलेजी महाराज गरीब और जरूमंद लोगों के लिए ऐसा वरदान है जो इनके जीवन को नयी दिशा की ओर लेकर जा रहा है। आज के समय में जब हम निरंतर एक दूसरे को सहयोग करने से बचते हैं। ऐसे समय में माताजी-महाराजजी जिस तरह से हर गरीब और जरूमंद के साथ खड़े होकर उनकी मदद के लिए हाथ बढ़ा रहे हैं। यह सही अर्थों में सेवा का वास्तविक मार्ग हैं।
उक्त विचार हिमाचल प्रदेश के किन्नौर जिले के रिकांगपिओ के क्षेत्रीय अस्पताल में हंस कल्चर सेंटर एवं ठाकुर कुंज लाल दामोदरी ठाकुर मैमारियल चेरिटेबल ट्रस्ट के तत्वावधान में आयोजित नि:शुल्क स्वास्थ्य जांच शिविर का उद्घाटन करते हुए भारत के प्रथम मतदाता मास्टर श्याम सरन नेगी ने व्यक्त किए।
श्री नेगी ने इस अवसर पर कहा कि माता मंगलाजी एवं भोलेजी महाराज स्वास्थ्य-शिक्षा के क्षेत्र में देश उन हिस्सों में काम कर रहे हैं। जहां आज के समय में स्वास्थ्य-शिक्षा के लिए काम करने की सबसे ज्यादा आवश्यकता है। फिर चाहे वह उत्तराखंड हो या फिर हिमाचल, इन राज्यों के दूर-दराज के इलाकों में आज के समय में शिक्षा-स्वास्थ्य की बेहतरी के लिए काम करने की बहुत आवश्यकता है। जो माताजी-महाराजी कर रहे हैं। यह हम सब के लिए सुखद है। इसके लिए हम माताश्री मंगलाजी एवं भोलेजी महाराज जी का आभार प्रकट करते हैं।
इस मौके विशेष तौर पर पर मौजूद किन्नौर के उपायुक्त गोपाल चंद ने हंस कल्चर सेंटर एवं हंस फाउंडेशन का आभार व्यक्त करते हुए कहा कि हम सौभाग्यशाली है कि हमें माता मंगला जी एवं श्रीभोलेजी महाराज जी का आशीष मिल रहा है। जिनके आशीर्वाद से हमारे क्षेत्र में निरंतर नि:शुल्क स्वास्थ्य जांच शिविरों का आयोजन किया जा रहा है। जिसमें बड़ी संख्या में आकर गरीब एवं जरूरतमंद लोग स्वास्थ्य लाभ ले रहे हैं। यह निश्चित तौर पर श्रेयकर है कि आज के समय जब स्वास्थ्य सेवाओं के लिए लोग जगह-जगह भटकर लाखों पैसा खर्च करके भी स्वस्थ नहीं हो पाते हैं। ऐसे समय में माता मंगला जी जरूरतमंद लोगों के लिए उन्हीं के क्षेत्रों में निशुल्क स्वास्थ्य सेवाएं प्रदान कर रही है। यह सही मायने में सेवा का सच्चा मार्ग है। 
इस मौके हंस कल्चर सेंटर  कोटद्वार के शाखा प्रभारी पदमेंद्र सिंह बिष्ट ने स्वास्थ्य शिविर में आए मुख्य अतिथि मास्टर श्याम सरन नेगी एवं अन्य गणमान्य लोगों का उत्तराखंडी टोपी पहना और शॉल उड़ाकर सम्मान किया। 
हिमाचल प्रदेश के किन्नोंर जिले के रिकांगपिओ एवं सांगला में आयोजित नि:शुल्क स्वास्थ्य जांच शिविरों के बारे में जानकारी देते हुए हंस कल्चर सेंटर दिल्ली के जरनल मैनेजर धर्मा राव ने बताया कि माताश्री मंगलाजी एवं भोलेजी महाराज जी के आशीर्वाद एवं हिमाचल प्रदेश के वन, परिवहन एवं खेल मंत्री और ठाकुर कुंज लाल दामोदरी ठाकुर मैमोरियल चेरिटेबल ट्रस्ट के ट्रस्टी गोविंद सिंह ठाकुर जी के सौजन्य से रिकांगपिओ में 610 और सांगला में लगभग चार सौ लोगों ने स्वास्थ्य सेवाओं का लाभ लिया। इन शिविरों में बाल रोग, स्त्री रोग, नेत्र रोग के विशेषज्ञ डाक्टरों ने रोगियों के स्वास्थ्य की जांच की और नि:शुल्क दवाइयों का वितरण किया। 
श्री धर्मा राव ने बताया कि माताश्री मंगलाजी एवं भोलेजी महाराज जी के आशीर्वाद से जरुरतमंद लोगों को नि:शुल्क चश्मे, बैसाखी, व्हीलचेयर और कान की मशीनें प्रदान की गई है। ताकि इन लोगों के जीवन स्तर में सुधार आ सके। जिसके लिए माताश्री मंगला जी एवं श्रीभोलेजी महाराज जी निरंतर प्रयासरत है। 
इस  मौके पूर्व विधायक तेजवंत सिंह नेगी जिला परिषद अध्यक्ष टाशी यांगचेन सदस्य शिक्षा परिषद विजय नेगी समाजसेवी ताराचंद ठाकुर, मंत्री गोविंद सिंह ठाकुर के पीआरओ मणि राज धागंल सहित सांगला एवं रिकांगपिओ के क्षेत्र के ग्राम प्रधान एवं बडी़ संख्या में ग्रामीण मौजूद थे।





See More

 
Top