देहरादून : एक ओऱ जहां आईएएस अफसर के स्टिंग औऱ सीएम के स्टिंग की साजिश की खबर से औऱ निजी चैनल के मालिक की गिऱफ्तारी से पूरे प्रदेश में हलचल पैदा हो गई है. तो वहीं इससे अब कांग्रेस भी हरकत में आ गई है. और प्रकरण में सीधे सरकार पर वार कर रही है.

मुख्यमंत्री को खुद आगे आकर स्पष्टीकरण देना चाहिए- धस्माना

प्रेसवार्ता का आयोजन कर कांग्रेस के प्रदेश उपाध्यक्ष सूर्यकांत धस्माना ने कहा कि मुख्यमंत्री को खुद आगे आकर स्पष्टीकरण देना चाहिए। उन्होंने कहा कि कांग्रेस किसी अपराधी के पक्ष में नही है। साजिश कर्ताओ को कड़ी से कड़ी सजा मिलनी ही चाहिए। लेकिन जिस व्यक्ति को आज स्टिंग की साजिश में गिरफ्तार किया गया है, उसी व्यक्ति ने पूर्ववर्ती कांग्रेस सरकार के सीएम हरीश रावत का भी स्टिंग किया था। उस वक्त स्टिंग को भाजपा अच्छा बताती थी। उस व्यक्ति को केन्द्रीय सुरक्षा बलों की सुरक्षा तक दे दी गई।

सरकार-अफसर ईमानदार थे तो साजिश कर्ताओं पर उसी दिन कार्रवाई क्यों न की गई-धस्माना

धस्माना ने कहा कि अगर सब ईमानदार हैं तो डर किस बात का? धस्माना ने आगे सरकार पर वार करते हुए कहा कि यह मामला 10 अगस्त को सामने आ गया था। अगर सरकार और अफसर ईमानदार थे तो साजिश कर्ताओं पर उसी दिन कार्रवाई क्यों न की गई।

बरामद सीडी, पेन ड्राइव, कैमरों आदि को सार्वजनिक करें-धस्माना

धस्माना ने कहा कि अगर सरकार वास्तव में ईमानदार है तो बरामद सीडी, पेन ड्राइव, कैमरों आदि को सार्वजनिक करें। जिन जिन अफसरों को स्टिंग में आपत्तिजनक आचरण करते देखा जा रहा हो, उनके खिलाफ भी कठोर कार्रवाई होनी चाहिए। इस मौके पर प्रवक्ता गरिमा महरा  दसौनी,  राजेन्द्र शाह, महेश जोशी, राजेश चमोली आदि भी मौजूद रहे।





See More

 
Top