रविवार को कांग्रेस ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से यौन उत्पीड़न के आरोपों का सामना कर रहे केंद्रीय मंत्री एम.जे. अकबर पर चुप्पी तोड़ने को कहा. कांग्रेस नेता आनंद शर्मा ने कहा, “यह महिला की गरिमा और सुरक्षा का सवाल है. उम्मीद यही की जाती है कि कि मामले से संबद्ध मंत्री तत्काल स्पष्टीकरण देंगे.”

शर्मा ने यहां संवाददाताओं से कहा, “लेकिन, इसके साथ ही यह प्रधानमंत्री का भी कर्तव्य है, संवैधानिक कर्तव्य और नैतिक कर्तव्य है कि वह मुद्दे पर बोलें. मूल सवाल यह है कि आखिर प्रधानमंत्री ने चुप रहने का क्यों फैसला किया है. देश को बताइये कि आप का क्या नजरिया है.”

इससे पहले रविवार को अपने आधिकारिक विदेश दौरे से लौटे केंद्रीय विदेश राज्यमंत्री एम.जे. अकबर ने कहा कि आरोपों के संबंध में वह बयान जारी करेंगे.

कई महिला पत्रकारों ने अकबर पर आरोप लगाया है कि उन्होंने (अकबर ने) संपादक रहने के दौरान उनका यौन उत्पीड़न किया था.





See More

 
Top