देहरादून :  अब मुफ्त सफर के दायरे में आने वाले लोगों को बस में टिकट लेना होगा और उनके टिकट का पैसा बाद में उनके खाते में जमा करा दिया जाएगा। जी हां परिवहन रोडवेज में विभिन्न श्रेणियों में दी जा रही मुफ्त सफर की सुविधा को सरकार डीबीटीएल योजना में बदलने जा रही है.

रोडवेज में 15 विभिन्न श्रेणी के लोगों को अपनी बसों में मुफ्त सफर की सुविधा

परिवहन सचिव शैलेश बगोली ने जानकारी देते हुए बताया कि रोडवेज 15 विभिन्न श्रेणी के लोगों को अपनी बसों में मुफ्त सफर की सुविधा देता है। इस पर हर साल पांच करोड़ से ज्यादा का खर्च आता है। साथ ही उन्होंने बताया कि रोडवेज प्रबंधन को इस व्यवस्था को शुरू करने के निर्देश दिए गए हैं। डीबीटीएल की व्यवस्था का खाका तैयार किया जा रहा है।

इसलिए लिया गया ये बड़ा फैसला

रोडवेज बसों में मुफ्त यात्रा की सुविधा हमेशा से विवादों में रही है। हर साल सांसद और विधायकों के कोटे से भी सैकड़ों यात्राएं दर्शाई जाती हैं। जबकि वो रोडवेज में सफर न के बराबर ही करते हैं। पिछले दिनों अप्रैल 2018 में मुफ्त यात्रा के नाम पर बड़ा घोटाला सामने आया था। अपने नाम से बड़ी संख्या में मुफ्त यात्राएं दर्शाए जाने पर सांसदों ने आपत्ति जताई थई.

देने होंगे टिकट के पैसे, ऐसे होगा पैसा वापस

डीबीटीएल सिस्टम के तहत मुफ्त यात्रा श्रेणी में चिह्नित व्यक्ति बस में पूरा मूल्य चुकाकर टिकट लेगा। इसके बाद उसे टिकट का मूल्य उसके बैंक खाते में जमा करा दिया जाएगा। खाते में धन जमा कराने की व्यवस्था का खाका अभी तय नहीं हो पाया है। इसके लिए जल्द ही परिवहन सचिव की अध्यक्षता में रोडवेज अफसरों की बैठक प्रस्तावित है। जिसमे ये तय किया जाएगा कि टिकट का पैसा रोडवेज देगा या फिर सरकार।

इन-इनको दी जाती है मुफ्त यात्रा की सुविधा

सांसद, विधायक, राज्य निर्माण आंदोलनकारी, स्वतंत्रता सेनानी, पत्रकार, स्कूल-कॉलेज छात्राएं, स्वतंत्रता सेनानी की विधवा, आर्मी वारंट, 65 साल और अधिक आयु के सीनियर सिटीजन, दिव्यांग आदि।





See More

 
Top