देहरादून : धुमाकोट बस दुर्घटना में 47 लोगों की जानें गई थी जिससे राज्य ही नहीं पूरे देशभर में मातम छा गया था. उस दौरान समय पर घायलों को इलाज नहीं मिल पाया था और न ही रेस्क्यू के लिए हेलीकॉप्टर उपलब्ध हो पाया था. वहीं इससे सासंद अनिल बलूनी भी बहुत आहत हुए थे तभी से उन्होंने ठान लिया था कि उत्तराखंड की जनता को हर तरह से स्वास्थय सुविधा देनी है. जो की सफल होती दिख रही है.

जी हां नए साल में रामनगर, कोटद्वार और उत्तरकाशी चिकित्सालयों में आईसीयू और वेंटिलेटर सुविधा उपलब्ध हो जाएगी. सांसद निधि से धनराशि मिलने के बाद स्वास्थ्य विभाग ने शुक्रवार को इन तीनों अस्पतालों में इन सुविधाओं के लिए टेंडर भी जारी कर दिए।

आपको बता दें गंभीर रोगियों और घायलों को रामनगर, कोटद्वार और उत्तरकाशी के अस्पतालों में आइसीयू व वेंटिलेटर की सुविधा न मिलने के कारण खासी तकलीफों का सामना करना पड़ता है। जो की धूमाकोट बस हादसे में साफ पता चली. तब राज्यसभा सदस्य अनिल बलूनी ने राज्य की स्वास्थ्य सेवाओं में योगदान देने का संकल्प जताते हुए प्रतिवर्ष दो या तीन आइसीयू केंद्र विभिन्न स्वास्थ्य केंद्रों में स्थापित करने की घोषणा की थी।





0 comments:

Post a Comment

See More

 
Top