देहरादून : उत्तराखंड शासन के खिलाफ बड़ी साजिश का पर्दाफाश हुआ. ठीक निकाय चुनाव से पहले इतने बड़े मामले का खुलासा और गिऱफ्तारी अहम मानी जा रही है. स्टिंग ऑपरेशन के जरिए प्रदेश सरकार को अस्थिर करने की बड़ी साजिश की जा रही थी लेकिन ये मंसूबे कामयाब नहीं पाए. लेकिन इस साजिश से उत्तराखंड की राजनीति औऱ राज्य में तहलका जरुर मच सकता था. इससे पहले ही पुलिस ने निजी चैनल के मालिक को उनके गाजियाबाद के आवास से गिरफ्तार किया साथ ही 4 अन्य के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया गया. बहुत पहले औऱ गुपचुप तरीके से निजी चैनल के मालिक की गिरफ्तारी की तैयारी चल रही थी जिसकी भनक किसी को नहीं लगी.

कौन है वो सफेदपोश नेता?

खबर है कि इस साजिश के पीछे किसी बड़े सफेदपोश नेता की मिलीभगत है. बताया जा रहा है कि इस स्टिंग की जानकारी पहले से ही सफेदपोश नेता को थी और इस साजिश में उसका हाथ था.

स्टिंग कर मोटी रकम वसूलने की साजिश

आरोप है कि पत्रकार से नामचीन आईएएस और सीएम का स्टिंग करवाकर मोटी रकम वसूलने की साजिश रची जा रही थी साथ ही ऐसा न करने पर पत्रकार को जान से मारने की धमकी भी निजी चैनल के मालिक ने दी थी. मीडिया रिपोर्ट की मानें तो इससे पहले भी पूर्व सीएम समेत कई नामचीन लोगों के निजी चैनल के मालिक ने स्टिंग किए थे और इसकी एवज में मोटी रकम की मांग की थी. साथ ही सत्तापक्ष के कई लोगों से उनकी नजदीकी थी. बीते 10 अगस्त को इस मामले को लेकर एफआईआर दर्ज कराई गई थी.

पुलिस ने गिऱफ्तारी के दौरान निजी मालिक के घर से लगभग 39 लाख से अधिक की रकम के साथ अमेरिकी डॉलर औऱ थाईलैंड की करेंसी भी बरामद की गई है. साथ ही पैनड्राइव, लैपटॉप, कई कीमती फोन, हार्ड डिस्क कैमरे सहित कई चीजें बरामद हुई हैं.





See More

 
Top