देहरादून : वर्दी पहनकर कईयों ने विभाग का नाम बदनाम किया है लेकिन कुछ ऐसे भी वर्दीधारी है जिन्होंने अपने नेक काम से लोगों का दिल तो जीता ही साथ ही वर्दी का मान भी बढ़ाया है. अगर बात की जाए होमगार्डों की तो उत्तराखंड के तमाम जिलों में होमगार्ड पुलिस की तरह ड्यूटी पर तैनात रहते हैं…एक पुलिसकर्मी की तरह होमगार्ड भी यातायात व्यवस्था संभाल रहे हैं.

जी हां 9 अक्टूबर को रिस्पना पुल में एक अज्ञात व्यक्ति ने यातायात संचालन में तैनात होमगार्ड दिनेश को बताया कि उसका पर्स कहीं गिर गया जिसका उसे पता नहीं चला. पर्स और फोन खोने की शिकायत पर तुरंत तत्तपरता दिखाते हुए होमगार्ड ने रिस्पना पुल पर खड़े ऑटो, बिक्रम चालकों से पूछताछ की…काफी खोजबीन करने के बाद आखिरकार व्यक्ति का पर्स और मोबाईल रिस्पना पुल के सड़क के किनारें मिला. जिसमें व्यक्ति के तमाम जरुरी डॉक्यूमेंट, पासपोर्ट, एटीएम औऱ 5500 रुपये थे साथ ही सेमसंग कम्पनी का मोबाईल था.

वहीं पर्स मिलने पर होमगार्ड ने युवक को फोन कर बुलाया औऱ फोन, सहित कीमती सामान सौंप दिया. जिसके बाद व्यक्ति ने होमगार्ड का आभार जताया…





See More

 
Top